NDTV Khabar

पाकिस्‍तान के फैशन डिजाइनर ने बाल‍िका वधू से करवाई रैंप वॉक, म‍िल रही है शाबाशी

फैशन शो की शो स्‍टॉपर कोई नामचीन मॉडल नहीं बल्‍कि स्‍कूल की एक बच्‍ची थी. बच्‍ची ने बाल विवाह के ख‍िलाफ चल रहे 'ब्राइडल यूनिफॉर्म' कैंपेन के तहत रैंप वॉक करते हुए समाज को कड़ा संदेश दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्‍तान के फैशन डिजाइनर ने बाल‍िका वधू से करवाई रैंप वॉक, म‍िल रही है शाबाशी

इस दुल्‍हन ने स्‍कूल यूनिफॉर्म पहनी हुई थी

खास बातें

  1. बच्‍ची ने स्‍कूल ड्रेस पहनकर रैंप वॉक की
  2. बच्‍ची पाकिस्‍तान के फैशन शो की शो स्‍टॉपर थी
  3. पाकिस्‍तान में बाल विवाह के ख‍िलाफ कैंपेन चल रहा है
नई द‍िल्‍ली : वेडिंग सीजन है और ऐसे में आपके फेसबुक की टाइमलाइन शादी और हनीमून की तस्‍वीरों से अटी पड़ी हैं. इस बीच पाकिस्‍तान के डिजाइनर अली जिशान ने 'हम ब्राइडल कुट्यूर वीक' के दौरान फैशन से इतर काम कर सबको चौंका दिया. जी हां, उनके फैशन शो की शो स्‍टॉपर कोई नामचीन मॉडल नहीं बल्‍कि स्‍कूल की एक बच्‍ची थी. बच्‍ची ने बाल विवाह के ख‍िलाफ चल रहे 'ब्राइडल यूनिफॉर्म' कैंपेन के तहत रैंप वॉक करते हुए समाज को कड़ा संदेश दिया. 

बाल विवाह का शिकार थीं भारत की पहली लेडी डॉक्टर Rukhmabai
 

बाल विवाह में बैंड बजाया तो पूरी बैंड जाएगी जेल!

पाकिस्‍तान में आज भी खुलकर बाल-विवाह जैसी कुप्रथा को अंजाम दिया जाता है. शादी की खातिर बच्‍चियों को पढ़ाई से कोसो दूर रखा जाता है. इस कैंपेन को UN Women Pakistan के साथ मिलकर चलाया जा रहा है. कैंपेन के बारे में बताते हुए उन्‍होंने लिखा है, 'हम ब्राइडल कुट्यूर वीक में कई दुल्‍हनों ने रैंप वॉक की. इसके बाद एक बच्‍ची स्‍कूल यूनिफॉर्म पहनकर आई जिसमें दुल्‍हन के लिबाज का नमूना था. श‍िक्षा से मरहूम रखकर बच्‍ची की शादी कर देना कितना दुर्भाग्‍यपूर्ण है.'

जीशान की शोटॉपर ने यूनिफॉर्म के साथ ब्राइडल ज्‍वेलरी पहनकर रैंप वॉक की. उसके कंधों पर स्‍कूल बैग भी था.

बाल विवाह के बदले श‍िक्षा के अध‍िकार वाला यह संदेश लोगों को खूब पसंद आया और उन्‍होंने जमकर डिजाइनर अली जीशान की तारीफ की.

टिप्पणियां
नाबालिग पत्नी से बनाया शारीरिक संबंध तो वह होगा रेप
 

आपको बता दें कि UN Women Pakistan ने इस कैंपेन की शुरुआत की है जिसका नाम है #BridalUniform. इसका मकसद लोगों को बाल विवाह से होने वाले दुष्‍परिणामों के बारे में जागरुक करना है.

बहरहाल, हम तो यही कहेंगे कि हर तबके की जिम्‍मेदारी है कि वह समाज की भलाई के लिए काम करे. वाकई इस तरह के कैंपेन तारीफ के काबिल हैं.

VIDEO: बाल विवाह की बेड़‍ियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement