इस कंपनी में फिट रहने के मिलते हैं बोनस, पैसे के लोभ में तेजी से मोटापा घटा रहे कर्मचारी

चीन की कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए वेट लॉस रिवॉर्ड प्रोग्राम शुरू किया है. प्रोग्राम में हिस्सा लेने के लिए कर्मचारियों को पहली बार कम से कम तीन किलो वजन कम करना होता है. इसके बाद कंपनी हर महीने कर्मचारियों को हर एक किलो वजन कम करने पर 1800 रुपए का बोनस देती है.

इस कंपनी में फिट रहने के मिलते हैं बोनस, पैसे के लोभ में तेजी से मोटापा घटा रहे कर्मचारी

चीन की एक कंपनी ने कर्मचारियों को वजन घटाने के बदले देती है पैसे. तस्वीर: प्रतीकात्मक

खास बातें

  • कर्मचारियों को फिट रखने के लिए चीन की कंपनी की पहल
  • फिट रहने वाले कर्मचारियों को देती है बोनस में 1800 रुपए
  • कर्मचारी तो फिट हो रहे पर, लेकिन चेयरमैन वांग जियोबाओ हैं जस के तस
बीजिंग:

भारत के ज्यादातर कंपनियां अपने कर्मचारियों की सेहत का ख्याल किए बिना केवल उनसे ज्यादा काम कराने की फिराक में रहते हैं. वहीं पड़ोसी देश चीन की जिनटियान इंवेस्टमेंट कंसल्टिंग कंपनी ने अपने कर्मचारियों की सेहत के लिए ऐसी पहल शुरू की है जो किसी मिसाल से कम नहीं है. इस कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए वेट लॉस रिवॉर्ड प्रोग्राम शुरू किया है. इसके तहत कंपनी हर महीने प्रतियोगिता आयोजित कर रही है. प्रोग्राम में हिस्सा लेने के लिए कर्मचारियों को पहली बार कम से कम तीन किलो वजन कम करना होता है. इसके बाद कंपनी हर महीने कर्मचारियों को हर एक किलो वजन कम करने पर 1800 रुपए का बोनस देती है. यानी यहां काम करने वाले कर्मचारियों को खुद की फिटनेस के बदले मिलेंगे पैसे.

चीन के शांक्सी प्रांत स्थित इस कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों ने मार्च से लेकर अब तक वजन कम कर बोनस ले चुके हैं. कुछ कर्मचारियों ने महज दो महीने में तीन किलो से ज्यादा वजन कम कर लिया है. दिलचस्प बात यह है कि  जिनटियान इंवेस्टमेंट कंसल्टिंग कंपनी में इस ऑफर को लागू कराने वाले चेयरमैन वांग जियोबाओ अभी तक अपना वजन कम नहीं कर पाए हैं.

वांग कहते हैं 'मैंने देखा कि कंपनी में बड़ी संख्या में कर्मचारी अनफिट हो गए हैं. वह दिन भर ऑफिस में सीट पर बैठे रहते हैं. घर जाने पर भी वे वर्कआउट नहीं कर पाते हैं. शायद इसलिए उनका वजन नहीं कम हो पाया है.

उन्होंने बताया कि वे ऑफिस में ज्यादा काम की वजह से पूरा समय कुर्सी पर बैठे रहते हैं. घर जाने के बाद भी वे वर्कआउट नहीं कर पाते हैं. इस वजह से उनका वजन नहीं कम हो पाया है. मालूम हो कि करीब डेढ़ अरब की आबादी वाले देश चीन में लगभग 10.8 प्रतिशत पुरुष और 14.9 फीसदी महिलाएं मोटापे की शिकार हैं. चिंता की बात यह है कि 20 साल से कम उम्र के लोग भी मोटापे के शिकार हो रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com