NDTV Khabar

चीन ने चांद पर उतारा यान, देखें पहली तस्‍वीर

चीन ने चांद पर बड़ी सफलता हासिल की है. उन्होंने दुनिया का पहला अंतरिक्ष यान चांद के डार्क साइड (अंधेरे हिस्से) पर उतारा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चीन ने चांद पर उतारा यान, देखें पहली तस्‍वीर

चीन ने दुनिया का पहला अंतरिक्ष यान चांद के डार्क साइड (अंधेरे हिस्से) पर उतारा है.

चीन ने चांद पर बड़ी सफलता हासिल की है. उन्होंने दुनिया का पहला अंतरिक्ष यान चांद के डार्क साइड (अंधेरे हिस्से) पर उतारा है. चीन का स्पेसक्राफ्ट चांग ई-4 (Chang'e-4) ने 3 जनवरी की सुबह चांद के हिस्से को छुआ. जिस हिस्से पर यान उतरा है वो धरती से काफी दूर है और इसके बारे में कोई बड़ी जानकारी नहीं है. चांद के इस हिस्से को डार्क साइड भी कहा जाता है. चीन ने चांग ई-4 (Chang'e-4) को 8 दिसंबर को लॉन्च किया था. 3 जनवरी को चीन को सफलता हासिल हुई. चीन ने 2013 में चांग ई-3 (Chang'e-3) को चांद पर उतार चुका है.  China Xinhua News ने ट्विटर पर तस्वीरें और वीडियो भी पोस्ट किया है.

चंद्रमा की चट्टानों को खरीदने के लिए लगी करोड़ों की बोली, बाहरी दुनिया की ये चीजें बिकीं

 


 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने घोषणा कर बताया कि एक लैंडर और एक रोवर वाला अंतरिक्ष यान सुबह 10.26 बजे (बीजिंग समयनुसार) 177.6 डिग्री पूर्वी देशांतर और 45.5 डिग्री दक्षिण अक्षांश में चांद के अनदेखे हिस्से में उतरा जो पृथ्वी से कभी नजर नहीं आता. 

रूस लगाएगा पता, क्या अमेरिकी वाकई गए थे चांद पर

 

 

मकऊ यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नेलॉजी के प्रोफेसर जू मेनगुआ जो चीनी स्पेस एजेंसी में काम करते हैं. उन्होंने कहा- 'ये स्पेस मिशन बताता है कि अंतरिक्ष की खोज में चीन कितना आगे निकल चुका है. चीन के लोगों ने ऐसा काम किया जो अमेरिका ने सोचा तक नहीं.' चीन अब अपने तीसरे स्पेस स्टेशन को 2022 तक संचालन करने की प्लानिंग कर रहा है. 

 

 

बता दें, चीन ने चांग ई-4 (Chang'e-4) को चीन के जीचांग शहर से 8 दिसंबर को लॉन्च किया गया था. उस वक्त अमेरिका में तारीख 7 दिसंबर थी. चांग ई-4 (Chang'e-4) ने 22 दिन बाद चांद को छुआ. ये यान अपने साथ एक रोवर भी लेकर गया है. लो फ्रीक्वेंसी रेडियो एस्ट्रोनॉमिकल ऑब्जर्वेशन की मदद से चांद के इस हिस्से के बारे में पता लगाएगा. 

देखें VIDEO:

 

टिप्पणियां

 

चीन ने अंतरिक्ष की खोज के लिए चीन अकादमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी (CAST) की स्थापना 1968 में की थी. यहां 27 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं. यह अकादमी वर्ल्ड क्लास अकादमी में से एक है जो बेहतरीन स्पेसक्राफ्ट बनाती है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement