NDTV Khabar

चीन का अनियंत्रित स्पेस स्टेशन कल आ रहा है धरती पर आग का गोला बनकर, फिर होगा कुछ ऐसा

चीन की निष्क्रिय हो चुकी अनियंत्रित अंतरिक्ष लैब अगले 24 घंटे में पृथ्वी के वायुमंडल में फिर से प्रवेश करते ही खगोलीय आग का गोला बन जाएगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चीन का अनियंत्रित स्पेस स्टेशन कल आ रहा है धरती पर आग का गोला बनकर, फिर होगा कुछ ऐसा

अनियंत्रित अंतरिक्ष लैब सोमवार को आग का गोला बन जाएगी: चीन

खास बातें

  1. अनियंत्रित अंतरिक्ष लैब सोमवार को आग का गोला बन जाएगी: चीन
  2. चीन का पहला स्पेस स्टेशन टीयांगोंग-1 धरती से टकराने वाला है.
  3. 8.5 टन वजनी यह मानव रहित स्पेस लैब पृथ्वी के किस क्षेत्र में गिरेगा.
नई दिल्ली:

चीन की निष्क्रिय हो चुकी अनियंत्रित अंतरिक्ष लैब अगले 24 घंटे में पृथ्वी के वायुमंडल में फिर से प्रवेश करते ही खगोलीय आग का गोला बन जाएगी. चीन के अंतरिक्ष प्राधिकरण ने आज कहा कि विघटन से पहले इसकी गति 26,000 किलोमीटर प्रति घंटा से भी ज्यादा है. चीनी अंतरिक्ष केंद्र ने एक बयान में कहा कि टियांगोंग-1 के कल अनियंत्रित ढंग से पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करने की संभावना है, जो यूरोपीयन स्पेस एजेंसी के अनुमानों के जैसा ही है.

चीन का ये स्पेस स्टेशन हुआ अनियंत्रित, 24 मार्च के बाद टकराएगा धरती से, फिर होगा कुछ ऐसा

चीनी अधिकारियों ने इससे पहले कहा था कि आठ टन के इस क्राफ्ट के नीचे गिरने से किसी नुकसान की आशंका नहीं है. इसके बहुत ही तेज गति से बिखरने पर यह चमकीले आग के गोले में तब्दील हो जाएगा जो उल्का पिंड जैसा दिखेगा. ईएसए ने कहा, ‘‘यह बहुत ही तीव्र गति से धरती के वायुमंडल में प्रवेश करेगा और विखंडित प्रयोगशाल का मलबा न्यूजीलैंड से लेकर अमेरिकी मिडवेस्ट के बीच कहीं भी गिर सकता है.'' चाइना मैन्ड स्पेस इंजीनियरिंग ऑफिस ने इससे पहले अपने सोशल मीडिया अकाउंट वी चैट पर कहा, ‘‘ लोगों को चिंता करने की जरुरत नहीं है.’’ 

टिप्पणियां

टोल बूथ में रुकने के लिए मारा ब्रेक लेकिन हो गया ब्रेक फेल, देखें हादसे का LIVE VIDEO


उसमें कहा गया, ‘‘ यह अंतरिक्ष यान पृथ्वी से नहीं टकराएगा जैसा कि विज्ञान- काल्पनिक फिल्मों में दिखाया जाता है, लेकिन यह चमकीले पदार्थ( लगभग उल्का पिंड जैसा) में तब्दील हो जाएगा और पृथ्वी की तरफ आने के क्रम में यह पूरे आकाश में एक टूटते तारे की तरह घूमते हुये दिखाई देगा.’’ टियांगोंग-1- ‘‘ हैवेनली पैलेस’’ को सितंबर 2011 में कक्ष में स्थापित किया गया था, जो चीन का अपना एक अंतरिक्ष स्टेशन स्थापित करने की दिशा में अति महत्त्वपूर्ण कदम था. इस स्थिति के लिए लोग सोशल मीडिया पर चीनी सरकार की आलोचना कर रहे हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सलमान खान को सेल्फी ले रहे फैन का फोन छीनना पड़ा महंगा, NSUI ने गोवा में एंट्री पर की बैन की मांग

Advertisement