पति ने पीटा तो भाग गई महिला, दो साल बाद तैरती मिली समुद्र में, बाहर निकल सुनाई पूरी कहानी - देखें Video

दो साल पहले लापता हुई एक कोलंबियाई महिला (Colombian Woman) को शनिवार को समुद्र में जिंदा (Woman Found Alive At Sea) पाया गया. मछुआरों ने जब एंजेलिका गैटन को तैरते हुए समुद्र में देखा तो वो घबरा गए. रेस्क्यू वीडियो काफी वायरल (Viral Video) हो रहा है.

पति ने पीटा तो भाग गई महिला, दो साल बाद तैरती मिली समुद्र में, बाहर निकल सुनाई पूरी कहानी - देखें Video

Viral Video: दो साल से गायब थी महिला, समुद्र में तैरती दिखी, बाहर निकाला तो बताई पूरी कहानी

दो साल पहले लापता हुई एक कोलंबियाई महिला (Colombian Woman) को शनिवार को समुद्र में जिंदा (Woman Found Alive At Sea) पाया गया. द सन की खबर के मुताबिक, मछुआरों ने जब एंजेलिका गैटन को तैरते हुए समुद्र में देखा तो वो घबरा गए. उन्होंने महिला को बचाया और किनारे तक ले आए. सोशल मीडिया (Social Media) पर रेस्क्यू वीडियो काफी वायरल (Viral Video) हो रहा है. महिला को 46 वर्षीय मछुआरे रोलैंडो विसबल और उनके दोस्त ने खोजा. उन्होंने महिला को शनिवार को सुबह लगभग 6 बजे प्यूर्टो कोलम्बिया के तट से दो किलोमीटर दूर पाया.

विसबल द्वारा फेसबुक पर साझा किए गए फुटेज में उन्हें और उनके दोस्त को महिला को रेस्क्यू करते हुए दिखाया. न्यूयॉर्क पोस्ट की खबर के मुताबिक, शुरुआत में मछुआरों को लगा कि यह एक लकड़ी का तुकड़ा है, जब महिला ने हाथ उठाकर मदद मांगना चाही, तब उनको पता चला कि एक महिला समुद्र में तैर रही है. वीडियो में विसबल और उसके दोस्त को एंजेलिका गैटन को बोट के अंदर खींचते हुए देखा जा सकता है. आठ घंटे से अधिक समय तक रहने के बाद वह थकावट और हाइपोथर्मिया से पीड़ित थी.

बचाया जाने के बाद उसके पहले शब्द कथित तौर पर "मैं फिर से पैदा हो गई, भगवान नहीं चाहते थे कि मैं मर जाऊं.''

देखें Video:

फेसबुक पर उसके बचाव दल द्वारा साझा किए गए अन्य वीडियो में दिखाया गया है कि वे उसे पानी की पेशकश करते हैं और उसे चलने में मदद करते हैं, इससे पहले कि वह अस्पताल ले जाती, समुद्र तट पर स्थानीय लोगों ने एंजेलिका गैटन को देखा.

Amigos les comparto todos los vídeos que logré al momento del rescate en Altamar de Angélica Gaitan frente a las costas del municipio de Puerto Colombia el día sábado 26 de Septiembre de 2020 !

Posted by Rolando Visbal Lux on Tuesday, 29 September 2020

एंजेलिका गैटन की पहचान होने के बाद उसने RCN रेडियो को पीछे की पूरी कहानी सुनाई. बताया कि उन्होंने अपने पूर्व पति के हाथों घरेलू शोषण का सामना किया और 2018 में भाग जाने का फैसला किया.

एंजेलिका ने कहा, '20 साल तक मैं टॉक्सिक रिलेशनशिप में रही. पहली गर्भावस्था के दौरान दुर्व्यवहार शुरू हुआ. उसने मुझे पीटा, उसने हिंसक रूप से मेरे साथ दुर्व्यवहार किया. दूसरी गर्भावस्था में दुरुपयोग जारी रहा और मैं उससे दूर नहीं हो पाई क्योंकि लड़कियां छोटी थीं.' एंजेलिका ने बताया कि पुलिस ने भी उसको कोई मदद नहीं मिली. 24 घंटे जेल में रखने के बाद उसे छोड़ दिया गया. आकर फिर उसने हाथ उठाया और ऐसा जारी रहा.

सितंबर 2018 में, उसने कहा, उसके पति ने उसका चेहरा तोड़ दिया और उसे मारने की कोशिश की. दुर्व्यवहार को सहन करने में असमर्थ, वह घर से भाग गई और कैमिनो डी फे रेस्क्यू सेंटर में रहने की जगह खोजने से पहले छह महीने तक सड़कों पर भटकती रही.

पूर्व पति के शहर छोड़ने के बाद पुलिस ने उसको शेल्टर छोड़ने का कह दिया. जिसका मतलब था कि उसे दिए गए सुरक्षात्मक उपाय समाप्त हो गए थे. उन्होंने कहा, 'मैं अपने जीवन को खत्म करना चाहती थी. मैं सब कुछ खत्म करना चाहती थी. मुझे अपने परिवार से भी कहीं भी कोई मदद नहीं मिली, क्योंकि इस आदमी ने मुझे अपने सामाजिक दायरे से दूर रखा, इसीलिए मैं जीवन को जारी नहीं रखना चाहती थी.'

उसने कहा कि उसने "समुद्र में कूदने" का फैसला किया, लेकिन उसके बाद कुछ भी याद नहीं है क्योंकि वह बेहोशी में फिसल गई थी. उन्होंने कहा, 'समुद्र के बीच में मुझे बचाने वाले व्यक्ति ने मुझे बताया कि मैं बेहोश थी, तैर रही थी.'

स्थानीय मीडिया ने एंजेलिका गैटन की बेटी, एलेजेंड्रा कैस्टिलैन्को को ट्रैक किया है, जो कहती है कि वह पिछले दो वर्षों से अपनी मां के ठिकाने के बारे में नहीं जानती थी. उसने यह भी सुझाव दिया कि घरेलू दुरुपयोग की रिपोर्टें झूठी थीं.

कास्टेलांचो और उसकी बहन अब अपनी मां को राजधानी बोगोटा लाने के लिए पैसे जुटा रही हैं जहां उनका "परिवार द्वारा ध्यान रखा" जा सकता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अगर आपको सहायता की ज़रूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं, जिसे मदद की दरकार है, तो कृपया अपने नज़दीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं)

हेल्‍पलाइन :
1) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ - 1860-2662-345 अथवा help@vandrevalafoundation.com
2) TISS iCall - 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध - सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक)