टिड्डियों को भगाने के लिए निकाला ये देसी जुगाड़, 2 करोड़ से भी ज्यादा बार देखा गया ये TikTok Video

टिड्डे (Locusts) उत्तर भारत में फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं. एक किसान का जुगाड़ (Desi Jugaad) या रचनात्मक हैक दिखाने वाला एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर वायरल (Viral Video) हो रहा है.

टिड्डियों को भगाने के लिए निकाला ये देसी जुगाड़, 2 करोड़ से भी ज्यादा बार देखा गया ये TikTok Video

टिड्डियों को भगाने के लिए निकाला ये देसी जुगाड़, देखें Viral Video

टिड्डे (Locusts) उत्तर भारत में फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं. इसलिए अधिकारी किसानों को कीटों से अपनी फसलों की सुरक्षा के तरीकों की सलाह दे रहे हैं. किसान अपनी फसल को बचाने के लिए ड्रम, बर्तन और यहां तक ​​कि डीजे का इस्तेमाल कर रहे हैं. एक किसान का जुगाड़ (Desi Jugaad) या रचनात्मक हैक दिखाने वाला एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर वायरल (Viral Video) हो रहा है. 

उत्तर प्रदेश के झांसी जिले के एक पुलिस अधीक्षक राहुल श्रीवास्तव ने ट्विटर पर एक टिकटॉक वीडियो शेयर किया. जहां एक किसान ने गजब का जुगाड़ लगाया. टिकटॉक पर इस वीडियो के अब तक 26 मिलियन व्यूज हो चुके हैं. 

राहुल श्रीवास्तव ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, 'टिड्डी अविष्कार की जननी है.' साथ ही #Jugad और #JugadRocks जैसे हैशटैग भी डाले. वीडियो में देखा जा सकता है कि किसान ने खेत के बीच एक एयरप्लेन जैसा बनाया है. उसने बॉटल, पंखा और एक डिब्बे का इस्तेमाल किया है. हवा के साथ जैसे ही पंखा चलता है तो ड्रम जोर से बजने लगता है. टिकटॉक और ट्विटर पर ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

देखें TikTok Viral Video:

@pinkipatel855

♬ original sound - pinkipatel855

टिकटॉक पर इस वीडियो के अब तक 1.5 मिलियन लाइक्स हो चुके हैं, साथ ही 7 हजार से ज्यादा कमेंट्स आ चुके हैं. ट्विटर पर भी लोगों ने इस जुगाड़ की खूब तारीफ की. लोगों ने इसे सबसे सटीक जुगाड़ बताया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

टिड्डियों ने - राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र जैसे पांच राज्यों को प्रभावित किया है - और केंद्र ने सीमावर्ती राज्यों को चेतावनी जारी की है. केंद्र की योजना ड्रोन और हेलीकॉप्टरों का उपयोग कर हवाई स्प्रे को बढ़ाने की है.

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) के अनुसार, टिड्डियों के झुंड के बिहार और ओडिशा तक पहुंचने की उम्मीद है, लेकिन दक्षिण भारत में इन कीटों के पहुंचने की संभावना कम है.