दीवाली पर पटाखे हुए Ban, तो शख्स ने कर डाला यह जुगाड़, IAS बोला- पटाखे इस तरीके से चलाएं - देखें Video

भारत में कई राज्यों ने पटाखों (Firecrackers Ban) के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया. पटाखों के शोर के लिए लोगों ने ऐसा जुगाड़ (Desi Firecrackers Jugaad Funny Video) किया है, जिसको देखकर आप भी हंस-हंसकर लोट-पोट हो जाएंगे.

दीवाली पर पटाखे हुए Ban, तो शख्स ने कर डाला यह जुगाड़, IAS बोला- पटाखे इस तरीके से चलाएं - देखें Video

दीवाली पर पटाखे हुए Ban, तो शख्स ने कर डाला यह जुगाड़ - देखें Video

दिल्ली-एनसीआर सहित कई शहरों में प्रदूषण का स्तर (Delhi Air Quality) बेहद 'खराब' हो चुका है. इसके साथ ही कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं. इसके मद्देनजर भारत में कई राज्यों ने पटाखों (Firecrackers Ban) के इस्तेमाल और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया. भारत में राजस्थान, दिल्ली, ओडिशा, सिक्किम, वेस्ट बंगाल और महाराष्ट्र में पटाखों पर बैन लगा दिया है. लेकिन लोग जुगाड़ कर अपने अंदाज में दीवाली मनाते दिख रहे हैं. पटाखों के शोर के लिए उन्होंने ऐसा जुगाड़ (Desi Firecrackers Jugaad Funny Video) किया है, जिसको देखकर आप भी हंस-हंसकर लोट-पोट हो जाएंगे.

आईएएस ऑफिसर अवनीष शरण ने एक मज़ेदार वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है, जहां देखा जा सकता है कि शख्स बम को जमीन पर रखता है और उसमें आग लगाने का नाटक करता है और फिर पटाखे की आवाज की तरह सीटी मारता है और जोर से होर्डिंग पर हाथ मारता है. जिसको देखकर लगता है, जैसे सच में पटाखा बजा है. दीवाली में पटाखे बैन होने के बाद यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

अवनीष शरण ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'इस दीपावली पर प्रदूषण ना फैलायें. पटाखे इस तरीके से चलायें.' 

देखें Video:

इसी तरह का एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जहां शख्स ने गुब्बारों की लड़ लगाई और धागे को जला दिया. जैसे ही गुब्बारे आग की चपेट में आए तो वो पटाखों की आवाज से फूटने लगे. एक यूजर ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'पटाखे पर बैन लगाने से हुआ नया आविष्कार.'


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में बिना पटाखे के दीवाली मनाई जाएगी. जिला प्रशासन ने 14 नवंबर दीपावली के पहले और बाद में पटाखे व आतिशबाजी चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. दीपावली के दिन भी केवल 2 घंटे रात्रि 8 से 10 बजे तक आतिशबाजी की जा सकती है और उसमें भी कम प्रदूषण उत्सर्जन करने वाले या ग्रीन पटाखे ही चलाए जा सकते हैं.