जब दो बहनें मिलीं 50 साल बाद, पिता के नाम से एक दूसरे को पहचाना

कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर पूरी दुनिया में जारी है. एक तरफ कोरोनावायरस (Coronavirus) पूरी दुनिया के लिए अभिशाप बना हुआ है वहीं कई लोगों के के लिए यह वरदान साबित हुआ है. हाल ही में सोशल मीडिया (Social Media) पर एक 73 वर्षीय महिला नेब्रास्का की स्टोरी काफी वायरल (Viral Story) हो रही है. यह स्टोरी इसलिए भी खास है क्योंकि कोरोनावायरस महामारी के बीच एक बहन को अपनी बिछड़ी हुई छोटी बहन मिली.

जब  दो बहनें मिलीं 50 साल बाद, पिता के नाम से एक दूसरे को पहचाना

बिछड़ी हुई बहनें 50 साल बाद अचानक से हॉस्पिटल में मिलीं

कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर पूरी दुनिया में जारी है. एक तरफ कोरोनावायरस (Coronavirus) पूरी दुनिया के लिए अभिशाप बना हुआ है वहीं कई लोगों के के लिए यह वरदान साबित हुआ है. हाल ही में सोशल मीडिया (Social Media) पर एक 73 वर्षीय महिला नेब्रास्का की स्टोरी काफी वायरल (Viral Story) हो रही है. यह स्टोरी इसलिए भी खास है क्योंकि कोरोनावायरस महामारी के बीच एक बहन को अपनी बिछड़ी हुई छोटी बहन मिली. यह ऐसी दो बहनों की कहानी है जो 50 साल बाद एक दूसरे से मिल रही थी. 

WWSB न्यूज के मुताबिक कोरोनावायरस की वजह से डोरिस क्रिप्पन (Doris Crippen) अपनी छोटी बहन बेव बोरो (Bev Boro) से 50 साल बाद मिली. पूरी कहानी को हम आपको विस्तार में बताते है. 53 साल की बेव बोरो, फ्रेमोंट में मेथोडिस्ट हेल्थ के डंकलाऊ गार्डन में काम करती हैं. और कुदरत का ऐसा करिश्मा हुआ है कि उनकी बड़ी बहन (क्रिपेन ) को हाथ टूटने की वजह से उसी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां उनकी छोटी बहन काम करती थी. जब छोटी बहन ने वार्ड के बाहर मरीज की लिस्ट में अपनी बहन का नाम देखा तो पहचान गई कि यही मेरी बड़ी बहन है. 

मैंने जैसे ही नाम देखा मेरे आश्चर्य का ठीकाना नहीं रहा. फिर मैंने अपनी दोस्त को कहा कि मुझे लग रहा ये मेरी बहन ही है. वह अपनी पूरी कहनी बताते हुए कहती हैं कि 1967 में जब मेरे पिता हमें अकेला छोड़कर चले गए तो पिता के साथ मेरी छोटी बहन भी चली गई थी. उस वक्त बेव बोरो सिर्फ 6 महीने की थी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

डब्ल्यूसीएससी न्यूज से क्रिपेन (बड़ी बहन) ने कहा, "जब मैंने उसे देखा था, तब वह एक बच्ची थी. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं उससे वापस मिल पाउंगी. दोनों बहन एक दूसरे से अस्पताल में मिलकर इतनी खुशी थी जिस बात का अंदाजा कोई नहीं लगा सकता है. बोरी ने अपनी बड़ी बहन क्रिपेन से बात करने के लिए व्हाइटबोर्ड का सहारा लिया . क्योंकि वह ठीक से सुन नहीं पाती है इसकी वजह से व्हाइट बोर्ड के जरिए छोटी बहन उनसे बात करती हैं. 

छोटी बहन बताती है कि मैं व्हाइट बोर्ड लेकर गई और मैंने बड़ी बहन से पूछा क्या तुम्हारे पिता का नाम वेंडल हफमैन हैं? वह मेरे डैडी है. फिर मैंने इशारा किया और कहा वह मेरे भी पिता है. उन्होंने कहा, 'मैं तुम्हारी बहन हूं, बेव'. यह सुनते ही मैं लगभग कुर्सी से गिर गई, मैं रोने लगी. मुझे अपनी बहन से मिलकर एक अलग ही तरह की खुशी का एहसास हो रहा था.  क्रिप्पन ने अपनी बहन से मिलने के बाद कहा, "जब मैंने उसे देखा था, तब वह एक छोटी सी बच्ची थी. आज वह 53 साल की हो गई है. दोनों बहनों ने बताया कि वह कई सालों तक एक दूसरे को ढूंढ़ती रही लेकिन उन्हें अपनी बहन नहीं मिली लेकिन अचानक से इस तरह से बहन का मिलना किसी करिश्मा से कम नहीं हैं.