ओबामानामा : कैसा था बचपन, नाम में क्यों जुड़ा है हुसैन, कैसे बने राष्ट्रपति

नई दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भारत दौरे पर हैं। एक नजर डालते हैं उन बातों पर, जिनका वास्ता उनकी पैदाइश, उनके नाम और उनके परिवार से है।

कहां, कैसे बीता ओबामा का बचपन

ओबामा का जन्म 4 अगस्त, 1961 को हवाई के होनूलूलू शहर में हुआ। हवाई अमेरिका का 50वां राज्य है, जो 55 साल पहले 1959 में अमेरिका का हिस्सा बना। करीब चार लाख की आबादी वाला शहर होनूलूलू हवाई की राजधानी है, जहां ओबामा पैदा हुए। ओबामा हवाई में पैदा होने वाले पहले और इकलौते अमेरिकी राष्ट्रपति हैं।

ओबामा की मां स्टैनली ऐन डनहम कंसास में पैदा हुई थीं, जो कांसा आदिवासियों का इलाक़ा है। कंसास 1861 में अमेरिका का हिस्सा बना और गुलाम मुक्त राज्य के तौर पर अमेरिका में शामिल हुआ।

ओबामा के पिता बराक हुसैन ओबामा सीनियर केन्या के थे और वह हवाई यूनिवर्सिटी की फेलोशिप पर यहां पढ़ने आए थे। यहीं 1960 में रूसी भाषा की क्लास में उनकी मुलाकात स्टैनली ऐन डनहम से हुई, हालांकि डनहम ओबामा सीनियर की दूसरी पत्नी रहीं। 1964 में ये शादी टूट गई।

1965 में ओबामा की मां डनहम ने दूसरा विवाह लोलो सोतोरो के साथ किया और 1967 में उनके साथ इंडोनेशिया चली गईं। छह से 10 साल की उम्र तक ओबामा इंडोनेशियाई भाषा के स्कूलों में पढ़े। 1971 में बराक ओबामा हवाई लौट आए और अपने नाना-नानी के साथ रहने लगे। यहीं 1971 में ही ओबामा के पिता एक बार उनसे मिलने भी आए।

1982 में एक सड़क हादसे में ओबामा के पिता बराक हुसैन ओबामा की मौत हो गई। तब ओबामा 21 साल के थे जबकि 1995 में बराक ओबामा की मां स्टैनली ऐन डनहम कैंसर की वजह से चल बसीं।
 
ओबामा के नाम में क्यों जुड़ा है हुसैन...?

ओबामा के सर्टिफिकेट में उनका नाम बराक हुसैन ओबामा दर्ज है। नाम का हुसैन शब्द उनके दादा हुसैन ओयांगो ओबामा के नाम से आया। जनजाति मूल के ओयांगो शुरुआत में ही कैथोलिक हो गए थे और जब उन्होंने इस्लाम कबूल किया तो हुसैन को पहला नाम बनाया। बचपन में बराक का नाम बेरी सोतोरो था। स्वाहिली भाषा में बराक शब्द का मतलब कृपा होता है। ओबामा केन्या के दूसरे बड़े समुदाय लुओ के सदस्य हैं।

1971 में बराक ओबामा अपनी मां के साथ हवाई लौट आए और फिर नाना नानी के साथ रहे। अपनी पहली किताब ड्रिम्स फ्रॉम माई फादर में ओबामा ने कबूल किया है कि राजनीति में आने से पहले वह मारिजुआाना और कोकीन लेते थे। ओबामा ने ये भी माना कि धूम्रपान छोड़ने के लिए उन्हें कड़ा संघर्ष करना पड़ा।

जानिए बराक ओबामा के परिवार के बारे में

बराक ओबामा और मिशेल की शादी अक्टूबर 1992 में हुई थी। मिशेल और ओबामा की पहली डेट स्पाइक ली की फिल्म डू द राइट थिंग के लिए हुई। मिशेल पेशे से वकील हैं और यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो हॉस्पिटल में वाइस प्रेसिडेंट थीं। ओबामा और मिशेल की दो बेटियां हैं, मालिया एन और नताशा। मालिया और सासा पर फेसबुक के इस्तेमाल पर रोक थी, जब तक कि वह 17 साल की नहीं हो गईं। दरअसल, ओबामा नहीं चाहते थे कि अजनबियों को उनके बारे में कुछ पता रहे।

मालिया को 12 साल की उम्र में सेलफोन इस्तेमाल करने की इजाज़त मिली, लेकिन वह भी सिर्फ वीकेंड्स पर। मालिया और साशा को दो खेल चुनने को कहा गया, जिनमें से एक अपनी पसंद का दूसरा अपनी मां मिशेल की मर्जी का। मां की मर्जी इसलिए रखी गई ताकि बच्चे वैसे काम में भी बेहतर करना सीखें, जो उन्हें पसंद नहीं हों।

मिशेल के मुताबिक, वह बेटियों को हरी सब्जी खाने पर जोर देती हैं। अगर सब्जी देखकर भूख नहीं है कहने पर चिप्स और कूकिज़ नहीं देतीं। 2014 में टाइम मैगज़ीन ने मालिया और साशा को 'The 25 Most Influential Teens of 2014' में शामिल किया गया था।

बराक ओबामा का सफरनामा

1985 में पढ़ाई के बाद शिकागो पहुंचे बराक ओबामा ने कम्युनिटी ऑर्गेनाइजर का काम शुरू किया। 1991 में हॉवर्ड लॉ स्कूल से ग्रैजुएट होने के बाद वह हॉवर्ड लॉ रिव्यू के एडिटर बन गए। 1992 में उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के लॉ स्कूल में पढ़ाना शुरू किया और 2004 तक फैकल्टी बने रहे।

1995 इल्योनिस सीनेट की सीट का चुनाव जीते। 2000 में अमेरिकी संसद के निचले सदन के लिए चुनाव लड़े, लेकिन हार गए। 2004 में पहली बार किसी सीनेट सीट के लिए दोनों बड़ी पार्टियों ने अफ्रीकी अमेरिकन उम्मीदवार उतारे, जिसमें ओबामा ने जीत हासिल की। 2007 में डेमोक्रैटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन में शामिल हुए।

2008 जनवरी में हिलेरी क्लिंटन और जॉन एडवर्ड को हरा कर उम्मीदवार बने। नवंबर, 2008 में जीत के बाद अमेरिका को पहला अश्वेत राष्ट्रपति मिला। 20 जनवरी 2009 को अमेरिका के 44वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।

राष्ट्रपति बनने के बाद बराक ओबामा
4 नवंबर, 2008 को बराक ओबामा ने अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति का इतिहास रचा। 2008 और 2011 में ओबामा ने सबूत के तौर पर अपने जन्म प्रमाण पत्र की दो अलग कॉपियां पेश कीं। ये साबित करने के लिए कि वे अमेरिका के हवाई राज्य में पैदा हुए हैं और अमेरिका के राष्ट्रपति होने की योग्यता रखते हैं।

ओबामा ने अब्राहम लिंकन और मार्टिन लूथर किंग की बाइबल के साथ शपथ ली थी। ये दोनों ही अफ्रीकी अमेरिकी नागरिकों की आजादी के लिए जाने जाते हैं। अपने कार्यकाल के पहले साल में ही ओबामा को नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। सत्ता में आते ही ओबामा ने इराक से अमेरिकी फौज की वापसी और ग्वांतनामो बे जेल बंद करने को लेकर कदम उठाने को कहा।

6 नवंबर, 2012 को बराक ओबामा दूसरी बार अमेरिका के राष्ट्रपति चुने गए। आंतरिक सुधारों में स्वास्थ्य बीमा से जुड़ा कानून जो ओबामा केयर भी कहा जाता है अहम उपलब्धि रही। 2011 में ओबामा ने 9/11 के मुजरिम ओसामा बिन लादेन को मारने का आदेश दिया। ओबामा भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com