NDTV Khabar

मोहम्मद शमी पर पत्नी हसीन जहां ने की FIR, फेसबुक ने उठाया ये कदम

मोहम्मद शमी पर एफआरआई होने के बाद फेसबुक ने हसीन जहां पर बड़ा कदम उठाया है. फेसबुक ने उनके पोस्ट को डिलीट कर दिया और अकाउंट को ब्लॉक कर दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोहम्मद शमी पर पत्नी हसीन जहां ने की FIR, फेसबुक ने उठाया ये कदम

मोहम्मद शमी पर एफआरआई होने के बाद फेसबुक ने हसीन जहां पर बड़ा कदम उठाया है.

खास बातें

  1. मोहम्मद शमी पर FIR होने के बाद फेसबुक ने हसीन जहां पर बड़ा कदम उठाया है.
  2. फेसबुक ने उनके पोस्ट को डिलीट कर दिया.
  3. फेसबुक ने हसीन जहान के अकाउंट को ब्लॉक कर दिया.
नई दिल्ली:

मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने पति पर घरेलू हिंसा, आपराधिक धमकी और जहर के साथ नुकसान पहुंचाने, या सीधे-सीधें कहें कि हत्या करने के प्रयास का आरोप दर्ज कराया है. वैसे हसीन जहां ने शमी ही नहीं, बल्कि उनके भाई पर भी दफा 376 के तहत बलात्कार का आरोप लगाया है. खबरों के अनुसार हसीन ने कहा, 'जब पिछले साल मैं अपने सास-ससुर के घर पर गई, तो शमी के बड़े भाई ने मेरे साथ बलात्कार किया. जहां के वकीर जाकिर हुसैन ने कहा कि पुलिस ने मोहम्मद शमी के खिलाफ गैर जमानती धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है. एफआरआई होने के बाद फेसबुक ने हसीन जहां पर बड़ा कदम उठाया है. 

मोहम्मद शमी पर पत्नी को जान से मारने की कोशिश का मामला दर्ज, पुलिस ने लगाई गैरजमानती धारा
 


उन्होंने अपनी बात को सही साबित करने के लिए जहां ने मोहम्मद शमी द्वारा महिलाओं को भेजे गए टेक्स्ट मैसेजों को फेसबुक पर पोस्ट किया. साथ ही, उन्होंने इन महिलाओं के फोटोग्राोफ और उनके नंबर भी फेसबुक पर पोस्ट कर दिए. जहां ने आरोप लगाते हुए कहा कि शमी और उनके परिवार के सदस्यों ने उन्हें यातनाएं दी और यहां तक कि उन्हें जान से मारने की भी कोशिश की.

तेज गेंदबाज मोहम्‍मद शमी बोले, 'ऐसा कुछ करने के बजाय मरना पसंद करूंगा'


टिप्पणियां

जिसके बाद फेसबुक ने उनके पोस्ट को डिलीट कर दिया और अकाउंट को ब्लॉक कर दिया. जिसके बाद उन्होंने मीडिया को ये बात बताते हुए कहा- मुझे कहीं से भी मदद नहीं मिली तो मैंने फेसबुक का सहारा लिया. लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा कि फेसबुक ने पोस्ट को डिलीट और अकाउंट क्यों ब्लॉक कर दिया.

मोहम्मद शमी ने पत्नी द्वारा लगाए गए आरोपों का दिया जवाब, फेसबुक पर लिखा ये
 

shami

हसीन ने शमी पर 498 A, 323, 307, 376, 506, 328, 34 पीनल कोड के तहत आरोप लगाया है. बीसीसीआई ने अपने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को सालाना अनुबंध नहीं दिया.  इन आरोपों के बारे में संवाददाताओं से बात करते हुए शमी भावुक हो गए. उन्‍होंने कहा, 'जहां तक देश के लिए खेलते हुए अपने प्रदर्शन के साथ समझौता करने की बात है तो मैं ऐसा कुछ करने के बजाय मरना पसंद करूंगा.' टीम इंडिया के तेज गेंदबाज ने कहा, 'हसीन और उनके परिवार के लोग कह रहे हैं कि हम बैठकर इन सब मुद्दों पर बातचीत करेंगे लेकिन मैं नहीं जानता कि उसे कौन बरगला रहा है.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement