Corona मरीज का इलाज करके 20 दिन बाद घर लौटी डॉक्टर, लोगों ने बरसाए फूल तो निकल पड़े आंसू

सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला डॉक्टर कोरोनावायरस (Covid19) के मरीज का इलाज करके हॉस्पिटल (Hospital) से 20 दिन बाद अपने घर लौटी हैं.

Corona मरीज का इलाज करके 20 दिन बाद घर लौटी डॉक्टर, लोगों ने बरसाए फूल तो निकल पड़े आंसू

सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसमें एक महिला डॉक्टर कोरोनावायरस (Covid19) के मरीज का इलाज करके हॉस्पिटल (Hospital) से 20 दिन बाद अपने घर लौटी हैं. डॉक्टर को देखते ही फैमिली (Family) और उनके पड़ोसी (neighbours) उनका स्वागत करते हुए तालियां बजाते हैं और फूल बरसाते नजर आ रहे हैं. डॉक्टर जैसे ही अपने अपार्टमेंट की गेट के पास पहुंचती हैं वहां मौजूद लोग तालियां और फूल से उनका स्वागत करने लगते हैं. खुद का इस तरह से वेलकम देखने के बाद डॉक्टर रोने लगती है.

यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी पसंद किया जा रहा है. कई लोगों ने कमेंट करते हुए लिखा, यह इमोशनल कर देने वाला वीडियो है. बता दें कि इस वीडियो को 'कोरोना हब' ने अपने फेसबुक पेज से शेयर किया है. 'कोरोना हब' कोरोनावायरस महामारी से संबंधित न्यूज और इंफॉर्मेशन शेयर करता है साथ ही हर दिन इस बीमारी को लेकर अपडेट भी डालता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बताते चले कि इस वीडियो को फेसबुक पर शेयर किया गया था. जिसे अबतक 1 करोड़ 10 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है. साथ ही 10 लाख से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं. एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा इस डॉक्टर और पूरी दुनिया के 'कोरोना वॉरियर्स' को मेरा सलाम. वही एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा, इस तरह के वीडियो कुछ पल के लिए खुशी  देती हैं. डॉक्टर या इस क्षेत्र में काम कर रहें सभी लोग, पुलिस और दूसरे ऐसे सभी लोग जो कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई में सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं उनको सोशल मीडिया पर 'कोरोना वॉरियर्स' का नाम दिया गया है.

गौरतलब है कि अप्रैल के महीने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा, मैं सभी देशवासियों से यह अपिल करता हूं कि इस कोरोनावायरस महामारी के बीच भी जो व्यक्ति आपको सेवा प्रदान कर रहे हैं जैसे डॉक्टर्स, पुलिस, मीडिया, इन कोरोना वॉरियर्स का हौसला अफजाई के लिए अपने घरों की बालकनी छत या खिड़की पर खड़े होकर ताली जरूर बजाएं.