परिवार के उड़े होश, जब पता चला उनके बाथरूम में लगा है फ्रांस की Queen का आईना, अब बिकेगा इतने लाख में

एक परिवार यह जानकर दंग रह गया कि एक बार उनके बाथरूम में लटका एक आईना (Mirror) फ्रांस की अंतिम रानी मैरी एंटोनेट (Last Queen Of France Marie Antoinette) का था. एक नीलामी में इसके कम से कम 8 हजार पाउंड (7.6 लाख रुपये) में बिकने की उम्मीद है.

परिवार के उड़े होश, जब पता चला उनके बाथरूम में लगा है फ्रांस की Queen का आईना, अब बिकेगा इतने लाख में

दादी से मिले आईने को शख्स ने लगा दिया बाथरूम में, निकला फ्रांस की Queen का तो उड़े होश, बिक रहा है इतने लाख में

एक परिवार यह जानकर दंग रह गया कि एक बार उनके बाथरूम में लटका एक आईना (Mirror) फ्रांस की अंतिम रानी मैरी एंटोनेट (Last Queen Of France Marie Antoinette) का था. डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, प्राचीन आईना 40 वर्षों से परिवार के बाथरूम में लटका हुआ था, जबकि वे इसके वास्तविक मूल्य से बेखबर थे. इस छोटे से आईने का आकार 19 इंच/15 इंच है. अब ब्रिस्टल, ब्रिटेन में एक नीलामी में इसके कम से कम 8 हजार पाउंड (7.6 लाख रुपये) में बिकने की उम्मीद है. 

पूर्व ब्रिस्टल नीलामी के अनुसार, प्राचीन 18वीं सदी के फ्रांसीसी आईने के फ्रेम में अखरोट की नक्काशी की गई है. फ्रेम पर एक उत्कीर्ण चांदी की पट्टिका में लिखा है, 'यह ग्लास पूर्व में मैरी एंटोनेट के नाम था और नेपोलियन के प्रभाव की बिक्री पर खरीदा गया था.'

यह माना जाता है कि आईने को नेपोलियन III की पत्नी, महारानी यूजनी द्वारा खरीदा गया था, जिन्होंने मैरी एंटोनेट की संपत्ति से कई आइटम खरीदे थे.

फॉक्स न्यूज के अनुसार, परिवार के एक सदस्य को अपनी दादी से आईना विरासत में मिला और इसे अपने बाथरूम में लटका कर रखा, न कि इसकी असली कीमत का एहसास हुआ. चांदी की पट्टी पर जो लिखा था, उसको भी उन्होंने नजरअंदाज कर दिया. उनको यह मजाक लग रहा था.


ईस्ट ब्रिस्टल नीलामियों के एडेन खान ने कहा, 'यह अविश्वसनीय लगता है कि इस आईने का अविश्वसनीय इतिहास है और इसे लम्बे समय तक छिपाया गया था.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, 'यह इतिहास का एक वास्तविक टुकड़ा है- अठारहवीं शताब्दी के सबसे प्रसिद्ध आंकड़ों में से एक मूर्त लिंक.' मैरी एंटोनेट फ्रांस की अंतिम रानी थीं, उन्होंने लुई XVI से शादी की. उन्होंने 1774 और 1792 के बीच शासन किया. उन्हें फ्रांसीसी क्रांति के दौरान मार दिया गया था.