ट्रेन में अपनी सीट पर बैठे-बैठे Live देख सकते हैं कैसे बन रहा है आपका खाना, जानिए कैसे

भारतीय रेल (Indian Railway) द्वारा परिचालित ट्रेनों में मिलने वाले भोजन के पैकेट (Food Packets) पर अब बार कोड (Barcode) होगा.

ट्रेन में अपनी सीट पर बैठे-बैठे Live देख सकते हैं कैसे बन रहा है आपका खाना, जानिए कैसे

ट्रेनों में मिलने वाले भोजन के पैकेज पर होगा बार कोड.

खास बातें

  • ट्रेनों में मिलने वाले भोजन के पैकेज पर होगा बार कोड.
  • रेलमंत्री पीयूष गोयल ने लोगों को ई-दृष्टि डैशबोर्ड समर्पित किया.
  • सभी प्रकार के खाद्य पदार्थो के पैकेट पर बार कोड होगा.

भारतीय रेल (Indian Railway) द्वारा परिचालित ट्रेनों में मिलने वाले भोजन के पैकेट (Food Packets) पर अब बार कोड (Barcode) होगा, जिससे रेलवे के अधिकारी और यात्री यह पता लगा पाएंगे कि भोजन किस किचेन में तैयार किया गया. इससे भोजन की गुणवत्ता को लेकर रेलयात्रियों द्वारा की जाने वाली शिकायतों में कमी आएगी. रेलमंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को लोगों को ई-दृष्टि डैशबोर्ड समर्पित किया. इस मौके पर उन्होंने कहा, 'ट्रेनों में आईआरसीटीसी द्वारा मुहैया करवाए जाने वाले पके हुए सभी प्रकार के खाद्य पदार्थो के पैकेट पर बार कोड होगा, जिसके साथ किचेन का नंबर और पैकिंग का समय दिया होगा.' 

रेल मंत्री पीयूष गोयल के खिलाफ लेख लिखकर सवाल उठाने वाले ओएसडी का कम हुआ कार्यकाल

गोयल ने कहा कि भोजन पर पैकिंग किए जाने वाले इंडियन कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) के किचेन का नंबर के साथ-साथ यह भी दिया होगा कि पैकिंग कब किया गया. रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र द्वारा बनाए गए नए डैशबोर्ड से डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट रेलदृष्टि डॉट क्रिस डॉट ओआरजी डॉट इन पर पहुंच बनाया जा सकता है. इसमें पूरे देश के आइआरसीटीसी के मुख्य किचेन की तस्वीरें भी लाइव दिखेंगी. 

Pulwama Attack:मुंबई के नालासोपारा में जनता का भड़का गुस्सा, रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन से ट्रेनों का संचालन ठप

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "आईआरसीटीसी के साथ सालाना बैठक के दौरान रेलमंत्री ने यात्रियों को मुहैया करवाए जाने वाले भोजन के पैकेट पर बार कोड लगाने का आइडिया दिया था." उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी बार कोड के विकल्प पर काम कर रही है और इसकी कीमत व उपयोगिता की समीक्षा की जा रही है.

देश की सबसे तेज ट्रेन 'वंदेभारत' की राह में फिर रुकावट, अब 6 कोच की खिड़कियां हुईं डैमेज

अधिकारी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि बार कोड के साथ भोजन के पैकेट अप्रैल के अंत या मई तक मिलने लगेंगे. आईआरसीटीसी के 32 आधारभूत किचेन हैं जहां से ट्रेनों में यात्रियों को भोजन मुहैया करवाया जाता है. भोजन की गुणवत्ता और वेंडरों द्वारा भोजन के अधिक पैसे लेने की शिकायतों को लेकर रेलवे की आलोचना होती रही है. 

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन आम जनता के लिए आज से शुरू, अगले दो हफ्तों की सीटें हुईं फुल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ऑथेंटिकेशन सर्विस प्रोवाइडर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट उमेश गुप्ता ने रेलवे के इस कदम का स्वागत करते हुए कहा, 'रेलवे अगर भोजन के पैकेट पर बारकोड के साथ होलोग्राम और पता लगाने की प्रणाली का जिक्र करे तो अच्छा होगा जिससे भोजन की पैकेजिंग के साथ छेड़छाड़ नहीं होगी.'

(इनपुट-आईएएनएस)