NDTV Khabar

गणेश चतुर्थी 2018: जानिए Ganesh Ji को क्यों चढ़ाया जाता है Modak, क्या है महत्व?

गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2018) 13 सितंबर को मनाया जाएगा. लोग गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए मोदक (Modak) का भोग लगाते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गणेश चतुर्थी 2018: जानिए Ganesh Ji को क्यों चढ़ाया जाता है Modak, क्या है महत्व?

Ganesh Chaturthi 2018: भगवान गणेश का पसंदीदा भोजन Modak माना जाता है.

गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2018) 13 सितंबर (13 September 2018) को मनाया जाएगा. इस साल गणेश उत्सव (Ganesh Utsav 2018) 13 सितंबर से 23 सितंबर तक चलेगा. गणेश चतुर्थी पर लोग गणपति बप्पा की पूजा करते हैं. देश में हर जगह गणेश पंडाल लगाए जाते हैं. माना जाता है कि भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को मध्यकाल में हुआ था. हर दिन इसी दिन गणेश चतुर्थी मनाई जाती है. लोग गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए मोदक (Modak) का भोग लगाते हैं. मोदक को नारियल (Coconut) और घी (Ghee) से बनाया जाता है. मोदक भगवान गणेश का पसंदीदा माना जाता है. लेकिन इसके पीछे का कारण कुछ और भी है. आइए जानते हैं गणेश चतुर्थी पर क्यो चढ़ाया जाता है मोदक...

Ganesh Chaturthi 2018: गणेश चतुर्थी 13 सितंबर से, जानें शुभ मुहूर्त के बारे में
 
modak

मोदक का मतलब है आनंद (खुशी)
पुराणों में मोदक का वर्णन है. मोदक का अर्थ होता है आनंद (खुशी) और भगवान गणेश को हमेशा खुश रहने वाला माना जाता है. इसी वजह से उन्हें मोदक का भोग लगाया जाता है. मोदक को ज्ञान का प्रतीक भी माना जाता है और भगवान गणेश को ज्ञान का देवता भी माना जाता है. इसलिए भी उनको मोदक का भोग लगता है. 

टिप्पणियां
Festivals 2018: पनीर के ये 5 पकवान मुंह में ला देंगे पानी...
 
modak

भगवान गणेश का पसंदीदा है मोदक
एक कथा के मुताबिक, गणेश जी और परशुराम जी के बीच युद्ध हुआ था, जिसमें उनका दांत टूट गया था. दांत टूटने के कारण उनको खाने में काफी तकलीफ हो रही थी. जिसके बाद उनके लिए मोदक बनाए गए. क्योंकि मोदक काफी मुलायम होता है और मुंह में जाते ही घुल जाता है. जिसके बाद से मोदक उनका सबसे प्रिय भोजन बन गया. 

रक्षाबंधन और गणेश चतुर्थी से पहले मोदी सरकार की सौगात, राखी और मूर्तियों पर कोई जीएसटी नहीं
 
rn0v72l8

गणेश चतुर्थी कब है, क्या हैं तारीखें (Ganesh Chaturthi 2018 date)
13 सितंबर से 23 सितंबर तक चलेगा गणेश उत्सव (Ganesh Chaturthi Festival 2018: 13 September to 23 September) इस साल गणेश उत्सव 13 से 23 सितंबर तक मनाया जाएगा. खबरें हैं कि इस साल चतुर्थी वाले दिन अच्छे संयोग हैं. तो चतुर्थी वाले दिन सुबह सवेर नहाधोकर शुद्धि करने के बाद व्रत करने के बाद दोपहर में ही गणेश बप्पा की प्रतिमा को सिंदूर चढ़ाने के बाद घर में स्थापित करें. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement