गौतम गंभीर ने 21 दिन के लॉकडाउन पर दिया ऐसा रिएक्शन, बोले- 'जो देश के लिए कुछ करना चाहते हैं वो...'

Coronavirus की रोकथाम के लिए आज से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन (CoronaVirus Lockdown) कर दिया गया है. टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने भी 21 दिन के लॉकडाउन (21 Day Lockdown) पर अपना रिएक्शन दिया है. 

गौतम गंभीर ने 21 दिन के लॉकडाउन पर दिया ऐसा रिएक्शन, बोले- 'जो देश के लिए कुछ करना चाहते हैं वो...'

गौतम गंभीर ने 21 दिन के लॉकडाउन पर दिया ऐसा रिएक्शन

कोरोनावायरस (Coronavirus) की रोकथाम के लिए आज से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन (CoronaVirus Lockdown) कर दिया गया है. इसका ऐलान पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने किया है उन्होंने कहा कि 21 दिन तक घर से निकलना भूल जाइए. पीएम मोदी ने कहा कि हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हर नागरिक को बचाने के लिए, आपके परिवार को बचाने के लिए घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है. देश के हर राज्य को हर केंद्रशासित प्रदेश, गली-मुहल्ले को लॉकडाउन किया जा रहा है. यह एक तरफ से कर्फ्यू ही है.जनता कर्फ्यू से यह बढ़कर है. टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने भी 21 दिन के लॉकडाउन (21 Day Lockdown) पर अपना रिएक्शन दिया है. 

गौतम गंभीर ने ट्विटर पर लिखा, ''वो सभी लोग जो पूछते हैं कि हम देश के लिए क्या कर सकते हैं. वो वक्त आ चुका है अपनी वफादारी दिखाने का. हमारे प्रधानमंत्री की सुनिए और घर में ही रहिए. अगर हम 21 दिन घर में रहेंगे तो जीत जाएंगे.'' गौतम गंभीर के अलावा विराट कोहली, अनिल कुंबले और वीरेंद्र सहवाग जैसे क्रिकेटर्स ने भी 21 दिन के लॉकडाउन का समर्थन किया है. 

पीएम मोदी ने एक बैनर के जरिए देशवासियों से अपील की कि वह अपने घरों के बाहर लक्ष्मण रेखा खींच दें और अगले 21 दिनों तक इसका पालन करें. बैनर में लिखा था कि को: कोई रो: रोड पर ना: न निकले. उन्होंने कहा कि घर से बाहर नहीं जाना है, कोरोना को हराना है.याद रखें जान है तो जहान है. 

पीएम मोदी ने कहा भारत आज उस स्टेज पर है जहां हमारे आज के संकल्प तय करेंगे कि आने वाले समय में इस महामारी को कितना रोक सकते हैं.  प्रधानमंत्री से लेकर गांव के छोटे से नागरिक तक सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है. इसकी चेन को तोड़ना है. 

पीएम मोदी ने कहा देश अगर 21 दिन नहीं संभला तो 21 सालों के लिए पीछे हो जाएगा. देश के लोगों के लिए अगले 21 दिन काफी महत्वपूर्ण हैं. देशवासी जहां हैं वहीं रहें.