NDTV Khabar

Bartolomé Esteban Murillo: कौन हैं बारतोलोमिओ एस्तेबन मुरिलो? पढ़ें 5 खास बातें
पढ़ें | Read IN

Bartolomé Esteban Murillo की आज 400वीं जयंती है. गूगल (Google) ने स्पेनिश पेंटर बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो (Bartolomé Esteban Murillo) का गूगल डूडल (Google Doodle of Bartolomé Esteban Murillo) बनाकर उन्हें याद किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Bartolomé Esteban Murillo: कौन हैं बारतोलोमिओ एस्तेबन मुरिलो? पढ़ें 5 खास बातें

Bartolomé Esteban Murillo's Google Doodle: गूगल ने मशहूर पेंटर मुरिलो का बनाया डूडल.

गूगल (Google) ने स्पेनिश पेंटर बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो (Bartolomé Esteban Murillo) का गूगल डूडल (Google Doodle of Bartolomé Esteban Murillo) बनाकर उन्हें याद किया. गूगल उनकी 400वीं जयंती (Celebrating 400 Year of Murillo) मना रहा है. मुरिलो (Bartolomé Esteban Murillo) का जन्म दिसंबर 1617 में स्पेन के सविले शहर में हुआ था. मुरिलो की सबसे मशहूर पेंटिंग है, जिसकी चर्चा अभी भी होती है. उसका नाम है 'टू विमेन एट अ विंडो' (Two women at a window). गूगल ने उसी पेटिंग को गूगल डूडल में लगाया और उनको याद किया. ये पेंटिंग उन्होंने करीब 1655 में बनाई थी. गूगल ने जिस पेंटिंग के जरिए डूडल बनाया. वो अपने आप में बेहद खास है. इस पेटिंग के जरिए उन्होंने शानदार कला का उदाहरण दिया.

Tyrus Wong's 108th Birthday: गूगल ने बनाया टायरस वॉन्ग का Google Doodle, जानें 5 खास बातें

तस्वीर में दो महिलाएं खिड़की पर खड़ी हैं. एक जवान लड़की खिड़की के सामने देख रही है तो वहीं दूसरी वृद्ध महिला मुंह छिपाकर शर्माते हुए बाहर की तरफ देख रही है. तस्वीर में दिखाया गया है कि दोनों बाहर की दुनिया में शामिल होना चाहती हैं और वहां की चमक-धमक में आना चाहती हैं. बार्तालोम एस्टेबान मुरिलो (Bartolomé Esteban Murillo) ने कई ऐसी पेंटिंग बनाई हैं, जिनको आज भी याद किया जाता है. आइए जानते हैं मुरिलो के बारे में खास बातें..

तो इस वजह से लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है नोएडा का यह अंडरपास
 

Bartolomé Esteban Murillo के बारे में 5 खास बातें...

 
u3evegas
Bartolomé Esteban Murillo's Google Doodle: मुरिलो की सबसे चर्चित पेंटिंग.

1. मुरिलो का बचपन गरीबी में बीता गया था. उनके पिता नाई और सर्जन थे. उन्होंने अपने अंकल से पेटिंग सीखी. बचपन में वो जो भी पेंटिंग बनाते थे वो मेले में बेच देते थे. उनको देखा-देखी कई पेंटर मेले में पेंटिंग बेचने लगे. मेले में पेंटिंग बेचने के काम उन्होंने जवानी तक किया. 

2. मुरिलो पहले धार्मिक विषयों पर पेंटिंग बनाते थे. जिसकी काफी प्रशंसा हुई. लोग उनकी पेंटिंग को बहुत पसंद करते थे. उन्होंने सफलता बहुत जल्द हासिल कर ली थी. 

3. 1645 में वो वर्ल्ड फेमस हो गए. मुरिलो रोजमर्रा के जीवन पर पेंटिंग बनाने लगे. जिसको पसंद किया जाने लगा. वो स्पेन के एंडालुसियन के जीवन को पेंटिंग के जरिए दिखाते थे. 

टिप्पणियां
4. एक वक्त ऐसा आया कि मुरिलो इतने प्रसिद्ध हो गए कि एक राजा ने उनकी आर्ट वर्क पर रोक लगा दी. मुरिलो स्पेन के बाहर कभी नहीं गए. 

5. साल 1682 में उनका निधन हो गया. उनकी ज्यादातर पेंटिंग्स सेंट पीटर्सबर्ग के म्यूजियम में रखी हुई हैं और वर्ल्ड फेमस 'टू विमेन एट अ विंडो' पेंटिंग  वाशिंगटन में नेशनल गैलरी ऑफ आर्ट के संग्रह में है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement