NDTV Khabar

'अर्थी बाबा' चले राष्ट्रपति बनने, रामनाथ कोविंद को चुनौती देने के लिए श्मशान घाट में बनाया चुनाव कार्यालय

अर्थी बाबा विधानसभा और लोकसभा का भी चुनाव लड़ चुके हैं. 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्‍होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ मैदान में उतरे थे. 2017 के विधानसभा चुनाव में चौरीचौरा विधानसभा क्षेत्र से अभिनेता राजपाल यादव की सर्व सम्‍भाव पार्टी ने अर्थी बाबा को टिकट दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'अर्थी बाबा' चले राष्ट्रपति बनने, रामनाथ कोविंद को चुनौती देने के लिए श्मशान घाट में बनाया चुनाव कार्यालय

गोरखपुर में रहने वाले राजेश यादव उर्फ अर्थी बाबा अर्थी पर बैठकर चुनाव प्रचार के लिए निकलते हैं. फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने की तैयारी में राजेश यादव ऊर्फ अर्थी बाबा
  2. 2009 के लोकसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ को दे चुके हैं चुनौती
  3. 2017 के विधानसभा चुनाव में राजपाल यादव की पार्टी के थे प्रत्याशी
नई दिल्ली: इन दिनों पूरे देश में राष्ट्रपति चुनाव की चर्चा है. बीजेपी ने रामनाथ कोविंद को एनडीए की ओर से प्रत्याशी बनाया है. वहीं विपक्षी दलों ने अभी तक यह नहीं बताया कि कि वह कोविंद का समर्थन करेंगे या कोई प्रत्याशी उतारेंगे. राजनीतिक गहमागहमी के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ के क्षेत्र गोरखपुर के एक शख्स सुर्खियों में आ गए हैं. दरअसल, यह शख्स राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं. इससे भी दिलचस्प बात यह है कि इन्होंने अपना चुनाव कार्यालय श्मशान घाट में खोल लिया है. इस शख्स का नाम तो राजन यादव है, लेकिन इलाके में ये अर्थी बाबा के नाम से मशहूर हैं. गोरखपुर के छपने वाले अखबारों में खबरें प्रकाशित हुई हैं कि अर्थी बाबा राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगे और रामनाथ कोविंद को टक्कर देने का प्रयास करेंगे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजन यादव ने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के लिए गोरखपुर के राजघाट स्थित श्मशान घाट में अपना कार्यालय खोला है. बताया जा रहा है कि वह एक-दो दिन में पर्चा दाखिर करेंगे. पर्चा दाखिल करने से पहले अर्थी बाबा अघोड़ी बाबाओं से मिलेंगे और उनसे जीत का आशीर्वाद मांगेंगे. हालांकि उन्होंने अभी से राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रचार भी शुरू कर दिया है.

राजन यादव चुनाव प्रचार के लिए अर्थी पर बैठकर निकलते हैं. वे अर्थी पर बैठे रहते हैं और चार लोग अर्थी को कंधे पर लेकर घुमते हैं. अर्थी बाबा का कहना है कि अगर वे राष्ट्रपति बन गए तो सभी सांसदों और विधायकों का इस तरह से मन बदल देंगे कि वे भ्रष्टाचार को भूलकर जनता की सेवा में जुट जाएंगे. इस अजीबोगरीब नेता का कहना है कि मर चुके लोगों की आत्माएं उन्हें चुनाव जीतने में मदद करेंगे.

मालूम हो कि अर्थी बाबा विधानसभा और लोकसभा का भी चुनाव लड़ चुके हैं. 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्‍होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ मैदान में उतरे थे. 2017 के विधानसभा चुनाव में चौरीचौरा विधानसभा क्षेत्र से अभिनेता राजपाल यादव की सर्व सम्‍भाव पार्टी ने अर्थी बाबा को टिकट दिया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement