NDTV Khabar

Hindi Diwas 2018: समोसा, जलेबी और गुलाब जामुन नहीं हैं हिन्दी के शब्‍द, जानिए कहां से आए ये नाम

हर साल हिन्दी दिवस (Hindi Diwas 2018) 14 सिंतबर को मनाया जाता है. 1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Hindi Diwas 2018: समोसा, जलेबी और गुलाब जामुन नहीं हैं हिन्दी के शब्‍द, जानिए कहां से आए ये नाम

Hindi Diwas 2018: समोसा, जलेबी और गुलाब जामुन नहीं हैं हिन्दी के शब्‍द.

हर साल हिन्दी दिवस (Hindi Diwas 2018) 14 सिंतबर को मनाया जाता है. 1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था. 1949 में जाकर संविधान सभा ने निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी. जिसके बाद हर जगह हिन्दी भाषा को फैलाने के बाद 1953 से 14 सितंबर को हिन्दी दिवस मनाया जाता है. हिन्दी दिवस के मौके पर हम आपको बता रहे हैं खाने-पीने की चीजों के कुछ ऐसे नाम जो कि मूलत: हिन्दी के नहीं हैं. 

Hindi Diwas 2018: हिन्दी आती है तो कमा सकते हैं लाखों रुपए, जानिए ऐसी ही 5 JOBS
 
dii51dt8

समोसा
भारत में समोसे को स्ट्रीट फूड कहा जाता है. लेकिन क्या आपको पता है समोसा का इजाद न भारत ने किया है और समोसा वर्ड भी हिन्दी नहीं है. बल्कि पर्शियन शब्द है. बता दें, समोसा भारत में मध्य एशिया की पहाड़ियों से गुज़रते हुए पहुंचा जिस क्षेत्र को आज ईरान कहते हैं. इसका असली नाम सम्बुसक है. मध्य एशियाई देशों में इसे सोम्सा कहा जाता है. अफरिकन देशों में इसे सम्बुसा कहा जाता है.

Hindi Diwas 2018: हिन्दी के वो 10 मैसेजेस, जिन्हें अपने दोस्तों को जरूर भेंजे
 
paneer jalebi

जलेबी
आप सभी को लगता होगा कि जलेबी शब्द भी भारत में ही बना है. लेकिन ये शब्द हिन्दी का नहीं है. जलेबी मूल रूप से अरबी शब्द जलेबिया से बना है. पर्शियन में इसे जलेबिया नाम से जाना जाता है और भारत की तरह वहां भी ये उतना ही फेमस है. 

Hindi Diwas 2018: 14 सितंबर को क्‍यों मनाते हैं हिन्‍दी दिवस? जानिए इसका इतिहास और रोचक तथ्‍य
 
gulab jamun

 

गुलाब जामुन
भारत में हर जगह गुलाब जामुन के शौकीन है. यही नहीं गुलाब जामुन की तरह काला जामुन और सफेद जामुन भी लोग खूब खाते हैं. लेकिन बता दें, गुलाब जामुन शब्द भी हिन्दी शब्द नहीं है. ये असल में पर्शियन नाम है. गुल का मतलब होता है फूल और जामुन का मतलब होता है पानी. अरब देशों में यह लुकमत-अल-कादी नाम से जाना जाता है.

टिप्पणियां
Hindi Diwas 2018: बॉलीवुड में 'शुद्ध हिंदी' का दिख चुका है असर, कुछ यूं होती थी कॉमेडी
 
aam ka achaar or mango pickle

अचार
मां के हाथ का अचार शब्द भी हिन्दी नहीं है. ये शब्द भी पर्शियन है. जिसका मतलब होता है, नमक, सिरके और शहद में अच्छे से मिक्स करके रखे गए फल या सब्जियां. इसे अंग्रेजी में पिकल कहा जाता है. 

हिंदी दिवस 2018 : 1949 में आज ही के दिन मिला था हिंदी को राजभाषा का दर्जा, जानें 10 रोचक तथ्य
 
23svm69g

अनानास
पाइनएपल को भारत में अनानास कहा जाता है. लेकिन ये शब्द भी हिन्दी का नहीं है. ये साउथ अमेरिकन शब्द है. कई देशों में भी इसे अनानास कहा जाता है. 
 
tmtlpeu8

 

चाय
हर गली नुक्कड़ में मिलने वाली चाय शब्द भी हिन्दी का नहीं है. ये शब्द चीन से लिया गया है. चीन की मैंडरीन और कैंटनीज भाषा में इसे चा कहते हैं. इसका मतलब होता है चाय की पत्ती.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement