NDTV Khabar

ऐसा है नाहरगढ़ किले का इतिहास, इस वजह से डर कर भाग जाते थे मजदूर

नाहरगढ़ का किला भारत के सबसे मशहूर किलों में से एक है. जहां टूरिस्ट आते रहते हैं. लेकिन इस किले को डरावना भी माना जाता है क्योंकि वहां कई ऐसी गतिविधियां हुई हैं जिसके चलते इस हॉन्टिड प्लेस भी कहा जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ऐसा है नाहरगढ़ किले का इतिहास, इस वजह से डर कर भाग जाते थे मजदूर

नाहरगढ़ का किला भारत के सबसे मशहूर किलों में से एक है.

खास बातें

  1. नाहरगढ़ का किला भारत के सबसे मशहूर किलों में से एक है.
  2. वहां कई ऐसी गतिविधियां हुई हैं जिसके चलते हॉन्टिड प्लेस भी कहा जाता है.
  3. नाहरगढ़ का किला राजा जय सिंह ने 1734 में बनवाया था.
नई दिल्ली:

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब फिल्म का विरोध जानलेवा मोड़ तक पहुंचा दिया है. राजधानी जयपुर में स्थित नाहरगढ़ किले की प्राचीर पर एक व्यक्ति का लटका हुआ शव मिलने से हड़कम्प मच गया है. जिसके साथ एक धमकी भी दी गई है. किले की दीवारों पर लिखा गया है- 'पद्मावती का विरोध, हम पुतले नहीं जलाते, लटकाते हैं.' बता दें, नाहरगढ़ का किला भारत के सबसे मशहूर किलों में से एक है. जहां टूरिस्ट आते रहते हैं. लेकिन इस किले को डरावना भी माना जाता है क्योंकि वहां कई ऐसी गतिविधियां हुई हैं जिसके चलते इस हॉन्टिड प्लेस भी कहा जाता है, आइए जानते हैं नाहरगढ़ के किले से जुड़े कुछ ऐसी बातें जो लोगों से सुनी है....

पढ़ें- 'पद्मावती' विदेश में रिलीज होगी या नहीं, 28 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई​
 

nahargarh fort

किसने बनाया था नाहरगढ़ किला
राजस्थान टूरिज्म की ऑफिशियल साइट के मुताबिक, अरावली पहाड़ियों के बीच और जयपुर के पास नाहरगढ़ का किला राजा जय सिंह ने 1734 में बनवाया था. 1868 में ये किला बनकर तैयार हुआ था. नाहरगढ़ का मतलब बाघों का निवास होता है. इस किले का पहले नाम सुदर्शनगढ़ था. इस किले में रानियों के लिए 12 खास कमरे बनवाए गए थे और राजा के लिए शानदार कमरा बनाया गया था. आज भी ये महल लोगों का एक पसंदीदा स्थान है.

पढ़ें- जयपुर: नाहरगढ़ किले पर लटका मिला शव, 'पद्मावती का विरोध, लिखा- हम पुतले नहीं जलाते, लटकाते हैं'

कोई रोकता था मजदूरों को काम करने से
कहा जाता है कि किले के निर्माण के दौरान कई ऐसी गतिविधियां देखी गई, जिससे मजदूर डर जाते थे. वो जो भी काम करते थे अगले दिन वो काम तहस-नहस दिखता था. जिससे मजदूर काफी डरे रहते थे. 

पढ़ें- UK में Padmavati को मिली हरी झंडी, निर्माता फिल्म रिलीज करने को तैयार नहीं

किले के पास जंगल है सबसे खतरनाक
नाहरगढ़ किले के पास बहुत बड़ा जंगल है. कहा जाता है कि राजा वहां शिकार पर जाया करते थे. आज भी ये जंगल काफी खतरनाक माना जाता है क्योंकि यहां जानवर घूमा करते दिखते हैं. इसलिए पर्यटकों को जंगल से दूर रखा जाता है. 

आमिर खान कर चुके हैं यहां शूटिंग
फिल्म रंग दे बसंती की ज्यादातर शूटिंग राजस्थान में हुई थी. नाहरगढ़ फोर्ट में उन्होंने शूटिंग की थी. जिसके बाद ये किला और फेमस हो गया था. यही नहीं, शुद्ध देसी रोमांस के लिए एक्टर सुशांत सिंह राजपूत भी यहां शूटिंग कर चुके हैं.

टिप्पणियां

देखें वीडियो: करणी सेना ने पद्मावती टलने के बाद वापस ली भारत बंद की अपील

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement