NDTV Khabar

Hole Punch History: डूडल की मदद से इतिहास बता रहा है गूगल

होल पंच मशीन का गूगल डूडल के तौर पर शामिल किया जाना काफी रोचक है. होल पंच हिस्ट्री बच्चों के लिए बना आकर्षण.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Hole Punch History: डूडल की मदद से इतिहास बता रहा है गूगल

Hole Punch History: गूगल ने लोगों के सामने लाए रोचक तथ्य

खास बातें

  1. बाल दिवस पर गूगल ने दिया डूडल का तोहफा
  2. होल पंच हिस्ट्री गूगल पर खास
  3. 131 वर्ष साल का हुआ होल पंच
नई दिल्ली: गूगल ने मंगलवार को बच्चों से जुड़े एक विशेष यंत्र 'होल पंच' को अपना डूडल बनाया है . होल पंच हिस्ट्री के नाम से आज गूगल पूरे दिन इस विशेष यंत्र के इतिहास के बारे लोगों को बता रहा है. बाल दिवस के मौके पर पहली बार गूगल ने चाचा नेहरू व बच्चों से अलग एेसे किसी यंत्र को अपना डूडल बनाया है .गूगल अपने डूडल में उन चीजों को ही शामिल करता है जो आम लोगों से खास तौर पर जुड़ा हो. साथ ही उसका अपना खास खास इतिहास हो. होल पंच मशीन का गूगल डूडल के तौर पर शामिल किया जाना काफी रोचक है.

यह भी पढ़ें: अनसूया साराभाई को इस अंदाज में गूगल ने किया याद, मजदूरों के हित में लड़ी थी लंबी लड़ाई

डूडल बनाए जाने के बाद से ही इस मशीन के इतिहास के बारे में जानने की इच्छा लोगों में बढ़ी है.आम लोगों के काम को आसान करने वाली होल पंच मशीन का आविष्कार 14 नवंबर 1886 में फ्रेडरिक नाम के शख्स ने किया था. फ्रेडरिक एक जर्मन अफसर थे .शुरुआती दिनों में यह मशीन सिर्फ एक मुह यानी एक पंच करने के लिए ही इस्तेमाल होता था.बीते 131 वर्ष के अपने सफर में इस मशीन में कई अहम बदलाव किए गए. मौजूदा समय में यह मशीन सिंगल होल पंच के साथ-साथ मल्टीपल और अलग-अलग रूप में भी उपलब्ध है.

आज इसका इस्तेमाल स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चों साथ-साथ दफ्तर में काम करने वाले लोग भी कर रहे हैं.इस मशीन का खास तौर पर पेपर व फाइल में छेद करने के लिए किया जाता है. पेपर होल पंच मशीन की तरह ही लेदर पंच मशीन भी लोगों के बीच खासा इस्तेमाल होती है.

Video:एेसा था पिछले साल गूगल का डूडल

इस मशीन का इस्तेमाल चमड़े व कपड़े में छेद करने के लिए किया जाता है. इस मशीन ने लोगों के काम को काफी आसान किया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement