Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

#KhulkeKheloHoli : उमंग है, हुड़दंग है, गुलाल है लेकिन वह मनमाफिक नहीं खेल पा रहे होली

#KhulkeKheloHoli : उमंग है, हुड़दंग है, गुलाल है लेकिन वह मनमाफिक नहीं खेल पा रहे होली

क्या आप होली खेलते हैं? आपमें से कुछ लोग कहेंगे कि झूम कर खेलते हैं जबकि कुछ कहेंगे कि न.. न... हम तो दूर रहते हैं होली के रंगों से। अगर आप होली के रंगों से थोड़ा दूरी बनाकर रखने वालों में से हैं तो खुद को कमरे में बंद कर लेते होंगे। चलिए काम निपटा.. बच गए होली से। लेकिन यदि आप होली खेलने की उमंग रखते हैं, मन में हुड़दंग रखते हैं और चाहते हैं कि खूब मुट्ठी भर भर गुलाल सबके गालों पर मलते फिरें लेकिन आप चाहकर भी ढंग से होली खेल न पा रहे हों तो आप पर क्या बीतेगी??

जी हां ऐसा भी होता है। बात समझ तो रहे ही होंगे आप। किसी झिझक, किसी अकड़, उम्र का कोई पड़ाव.. या कभी ये कारण, कभी वो कारण... किसी वजह से आप मुट्ठियों में गुलाल और आंखों में चमक लिए होली खेलने की कोशिश-सी तो कर गए लेकिन खेल न पाए... उफ्... कितना बुरा होगा यह!

यह वीडियो एक लोकप्रिय ब्रैंड द्वारा बनाया गया है और यूट्यूब पर भी पोस्ट किया गया। 14 मार्च को पोस्ट किए गए इस वीडियो में ओल्ड एज होम के माध्यम से एक संदेश देने की कोशिश की गई है। कुछ बुजुर्गों के बीच एक ऐसा बुजुर्ग जो होली खेलना तो चाहता है लेकिन....। बेहद प्यारा सा यह वीडियो कहता है #KhulkeKheloHoli
देखें नीचे दिया गया वीडियो...

विज्ञापन आखिर में कहता है- यह रंग है गाढ़े रिश्तों के, इन्हें फीका मत पड़ने दो, इस बार खुल के खेलो...। बात तो सही है.. है न?