बोर्ड परीक्षा में केमिस्ट्री में मिले थे मात्र 24 नंबर, आज हैं IAS ऑफिसर... देखें Video

सीबीएसई (CBSE) क्लास 12 का रिजल्ट आते ही हर तरफ बस एक ही सवाल पूछते हुए लोग नजर आते हैं. आपके बच्चे ने 12 वीं के बोर्ड में कितने नंबर लाए हैं. बहुत सारे बच्चे और उनके माता- पिता इस बात से दुखी होकर अपने फोन तक बंद कर देते हैं. और जिन बच्चों के नंबर कम आते हैं वह बस लोगों से नजरे चुराते हुए नजर आते हैं

IAS नितिन सांगवान ने ट्विटर (Twitter) हैडल से अपनी 12 वीं बोर्ड (12th Board Exam) की रिजल्ट (Board Result) को ट्वीट (Tweet) किया. साथ ही उन्होंने यह लिखा कि नंबर नहीं फैसला करता है कि आप कितने कामयाब है. सांगवान का रिजल्ट वाला ट्वीट इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. जब इस पूरे मामले पर सांगवान से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा, 'रिजल्ट को ट्वीट करने के पीछे सबसे कारण था, बच्चों का हौसला बढ़ाना.' जैसा कि आपको पता है कि 12वीं बोर्ड के रिजल्ट घोषित हो गए हैं. सीबीएसई (CBSE) क्लास 12 का रिजल्ट आते ही हर तरफ बस एक ही सवाल पूछते हुए लोग नजर आते हैं. आपके बच्चे ने 12 वीं के बोर्ड में कितने नंबर लाए हैं? वहीं दूसरी तरफ अगर बच्चा कम नंबर लाया है या फेल हो गया तब बच्चे और उनके माता-पिता इस बात से दुखी होते हैं और जिन बच्चों के नंबर कम आते हैं वह बस लोगों से नजरे चुराते हुए खुद को घर में बंद कर लेते हैं. ऐसे ही बच्चों का हौसला अफजाई करने के लिए नितिन ने सोशल मीडिया के जरिए कुछ ऐसा किया जिसे लोग खूब पसंद कर रहे हैं. 

सांगवान ने NDTV को बताया कि उन्होंने सोशल मीडिया पर इसलिए अपनी मार्कशीट शेयर की ताकि बच्चे इससे प्रेरित हो सके. इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा: "हमारे आसपास में ऐसा अक्सर होता है कि बच्चे के नंबर कम आने के बाद परिवार के सदस्य निराश हो जाते हैं, मैं भी इस हालात से गुजर चुका हूं. मेरी हालत तो इन बच्चों से ज्यादा खराब थी. मैं अपने मार्कशीट के जरिए बच्चों को यह बताना चाहता हूं कि अगर मैं यह कर सकता हूं तो आप भी कर सकते हैं. 

सांगवान ने अपनी मार्कशीट को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा था, मुझे 12वीं बोर्ड के एग्जाम में केमिस्ट्री में 70 में बस 24 अंक मिल थे. मतलब पास मार्क से सिर्फ एक नंबर ज्यादा. लेकिन यह नंबर तय नहीं करता कि मुझे अपनी लाइफ में क्या चाहिए. 

आपको बता दें कि सांगवान का यह ट्वीट काफी वायरल हो रहा है. सिर्फ इतना ही नहीं लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं और इसी का नतीजा है कि अब तक इस ट्वीट को हजारों लाइक्स और रिट्वीट मिल चुके हैं. सोशल मीडिया यूजर ने सांगवान की तारीफ करते हुए लिखा, आपने बेहद खुबसूरत तरीके से बच्चों का हौसला बढ़ाया है. इसके लिए धन्यवाद..

एनडीटीवी से बात करते हुए, IAS अधिकारी ने कहा कि कक्षा 12 और 10 की परीक्षाएं जीवन में एक मील का पत्थर साबित होती हैं, लेकिन वे आपका भविष्य तय नहीं करती हैं. मैं अपने ट्वीट के जरिए यह बताना चाहता था कि जीवन में आप गिरते हैं, तो आप उठ भी सकते हैं और फिर से दौड़ भी सकते हैं. बस खुद पर विश्वास रखने की जरूरत है.

Newsbeep

सांगवान यही नहीं रुके उन्होंने बिल गेट्स और स्टीव जॉब्स का उदाहरण देते हुए कहा, ये दो ऐसे शख्स है जो कॉलेज ड्रॉपआउट हैं, "हमें यह समझने की आवश्यकता है कि सफलता एक डिग्री या मार्कशीट पर निर्भर नहीं करती है," उन्होंने कहा, "शिक्षा का अंतिम उद्देश्य नंबर लाना नहीं है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सांगवान कहते हैं कि सोशल मीडिया का जमाना है, बच्चों से लेकर माता- पिता तक काफी प्रेशर में रहते हैं. हमारे समय में सिर्फ आसपास के लोगों और सहकर्मी का दबाव होता था लेकिन आज के बच्चे पर पूरी दुनिया के सहकर्मी दबाव होता है. आपको बता दें कि सांगवान आईआईटी मद्रास के पूर्व छात्र रह चुके हैं साथ ही 2015 में उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा पास की. और फिलहाल वह अहमदाबाद में कार्यरत हैं.