Ind Vs Aus: मोहम्मद सिराज ने फिर दिया डेविड वॉर्नर को चकमा, विकेट लेकर ऐसे मनाया जश्न - देखें Video

Ind Vs Aus 4th Test: हले ही ओवर में मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने डेविड वॉर्नर (David Warner) को चलता कर दिया. विकेट लेने के बाद उन्होंने शानदार अंदाज में जश्न मनाया. सोशल मीडिया (Social Media) पर वीडियो तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है.

Ind Vs Aus: मोहम्मद सिराज ने फिर दिया डेविड वॉर्नर को चकमा, विकेट लेकर ऐसे मनाया जश्न - देखें Video

सिराज ने फिर दिया डेविड वॉर्नर को चकमा, विकेट लेकर ऐसे मनाया जश्न - देखें Video

Ind Vs Aus 4th Test: भारत और ऑस्ट्रेलिया (India Vs Australia) के बीच चौथा टेस्ट मुकाबला ब्रिसबेन (Brisbane) के खेला जा रहा है. ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. डेविड वॉर्नर (David Warner) और मार्कस हैरिस (Marcus Harris) ओपनिंग करने उतरे, लेकिन ऑस्ट्रेलिया को अच्छी शुरुआत नहीं दे सके. पहले ही ओवर में मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने डेविड वॉर्नर (David Warner) को चलता कर दिया. तीसरे टेस्ट में भी सिराज ने डेविड वॉर्नर (David Warner) का विकेट लिया था. चौथे टेस्ट की पहली ईनिंग में भी उन्होंने जलवा दिखाया. विकेट लेने के बाद उन्होंने शानदार अंदाज में जश्न मनाया. सोशल मीडिया (Social Media) पर वीडियो तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है.

अभी तक ऑस्ट्रेलिया को ओपनिंग बल्लेबाज अच्छी शुरुआत देने में कामयाब नहीं हो पाए हैं. खेले गए 4 टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई ओपनिंग जोड़ा, जल्दी विकेट देकर जाती दिखी. चौथे टेस्ट की पहली ईनिंग में भी कुछ ऐसा ही हुआ. पहले ओवर में मोहम्मद सिराज ने डेविड वॉर्नर को स्लिप में कैच करा दिया. उसके बाद शार्दुल ठाकुर ने मार्कस हैरिस को आउट किया.

देखें Video:


अपने प्रमुख खिलाड़ियों की फिटनेस समस्या से जूझ रही भारतीय टीम में चार बदलाव करते हुए टी नटराजन और वॉशिंगटन सुंदर को शामिल किया गया. अनुभवी तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और हरफनमौला रवींद्र जडेजा चोट के कारण इस मैच से बाहर हैं. सिडनी टेस्ट के नायक रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी भी चोटिल होने के कारण टीम से बाहर हैं. तेज गेंदबाज शारदुल ठाकुर और बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को भी अंतिम एकादश में जगह मिली है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नटराजन भारत के 300वें टेस्ट क्रिकेटर बने और एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले पहले खिलाड़ी भी बन गए. उन्हें अभ्यास गेंदबाज के तौर पर रोका गया था लेकिन प्रमुख गेंदबाजों की चोटों के कारण उन्हें टेस्ट में भी पदार्पण का मौका मिल गया.