NDTV Khabar

टॉयलेट इस्तेमाल करने के एवज में 95 रुपए वसूलता था, बुरा फंसा

शौचालय सुविधा के लिए शुल्क लेने के विवाद में फंसा भारतीय मूल का रेस्टोरंट मालिक

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टॉयलेट इस्तेमाल करने के एवज में 95 रुपए वसूलता था, बुरा फंसा

दक्षिण अफ्रीका में बुरा फंसा भारतीय मूल का रेस्टोरेंट मालिक. तस्वीर: प्रतीकात्मक

जोहानिसबर्ग: डरबन के फास्ट फूड स्टोर का दक्षिण अफ्रीकी-भारतीय मूल का मालिक परिसर स्थित शौचालय का इस्तेमाल करने पर लोगों से 20 रैंड शुल्क वसूलने के विवाद में फंस गया जॉली ग्रुबर रेस्टोरेंट के मालिक जुनैद मूला ने एक बयान जारी कर कहा है कि 20 रैंड (95 रुपये) वसूलने का उद्देश्य ऐसे लोगों को यहां से दूर रखना है जो यहां से भोजन खरीदने वाले ग्राहकों के लिए उपलब्ध नि:शुल्क सुविधाओं का दुरुपयोग करते हैं.

एक ग्राहक रजा खान ने फेसबुक पर एक रसीद डाली थी और बताया गया था कि शौचालय सुविधा के लिए उन्हें 40 रैंड का शुल्क अदा करना पड़ा. 

खान ने लिखा, 'मेरे भाई ने उनसे पूछा कि क्या हम शौचालय इस्तेमाल करने के लिए शीतल पेय खरीद सकते हैं जिस पर उन्होंने मना कर दिया. शौचालय इस्तेमाल करना काफी महंगा साबित हुआ.' रेस्टोरेंट के बाहर लिखा है, 'शौचालय का इस्तेमाल केवल यहां के ग्राहक कर सकते हैं. पेय पदार्थ खरीदने से आप इन सुविधाओं का इस्तेमाल करने के लिए योग्य नहीं हो जाते. इस सुविधा का बगैर इजाजत इस्तेमाल गैरकानूनी, गलत, चोरी और हराम है.' 

टिप्पणियां
आगे लिखा है, ' यह सार्वजनिक शौचालय नहीं है, इस सेवा का इस्तेमाल करने के लिए प्रति व्यक्ति शुल्क 20 रैंड है.' हालांकि इस रेस्टोरेंट में एक नमाज रूम है जिसका नि:शुल्क इस्तेमाल लोग नमाज अदा करने के लिए कर सकते हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement