NDTV Khabar

Karnataka के बारे में 10 फैक्ट्स, जिनके बारे में लोग कम जानते हैं

Karnataka Election 2018: राजनीति के अलावा भी कर्नाटक कई चीजों के लिए चर्चा में रहता है. राज्य में बारे में कई ऐसी दिलचस्प बातें हैं जिन्‍हें बहुत कम लोग जानते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Karnataka के बारे में 10 फैक्ट्स, जिनके बारे में लोग कम जानते हैं
Karnataka Election 2018: कर्नाटक विधानसभा चुनावों में सभी की निगाहें अब राज्यपाल वजुभाई वाला पर टिक गई है. कर्नाटक में बीजेपी और कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने सरकार बनाने का दावा पेश किया. भाजपा कर्नाटक चुनाव में भले ही बड़ी पार्टी बनकर उभरी हो लेकिन वो 224 सदस्यीय विधानसभा में जादुई आंकड़ा हासिल नहीं कर पाई. ये तो हुई कर्नाटक की सियासी उठापटक की बात. लेकिन राजनीति के अलावा भी कर्नाटक कई चीजों के लिए चर्चा में रहता है. राज्य में बारे में कई ऐसी दिलचस्प बातें हैं जिन्‍हें बहुत कम लोग जानते हैं. यहां पर हम आपको कर्नाटक के ऐसे ही 10 तथ्‍यों के बारे में बता रहे हैं:

LIVE: शाम तक येदियुरप्‍पा को मिल सकता है कर्नाटक में सरकार बनाने का न्‍योता, कल लेंगे शपथ- सूत्र
 
karnataka
 
1. कर्नाटक की स्थापना 1 नवंबर 1956 में की गई थी. उस वक्त इसका नाम मैसूर हुआ करता था. नवंबर 1973 को इसका नाम बदलकर कर्नाटक कर दिया गया. 
 
2. रानी चेनम्मा कर्नाटक के कित्तूर राज्य की रानी थीं. भारत में स्वतंत्रता के लिये संघर्ष करने वाले सबसे पहले शासकों में उनका नाम लिया जाता है. उन्होने ‘हड़प नीति’ के विरुद्ध अंग्रेजों से संघर्ष किया था. उस संघर्ष में वह वीरगति को प्राप्त हुईं.

BJP ने JDS विधायकों को 100-100 करोड़ रुपये, कैबिनेट पोस्‍ट का वादा किया : कुमारस्वामी
 
indian flag
 
3. गणतंत्र दिवस पर देश भर में फहराए जाने वाले खादी के तिरंगे झंडों का कर्नाटक से बहुत बड़ा संबंध है. हुबली में बेंगेरी में कर्नाटक खादी ग्रामोद्दोय संयुक्त संघ है, जो तिरंगे झंडे बनाने का काम करने वाली देश की एकमात्र संस्था है.
 
4. कर्नाटिक संगीत (CARNATIC MUSIC) भारत के शास्त्रीय संगीत की दक्षिण भारतीय शैली का नाम है. ये संगीत ज्यादातर भक्ति संगीत के रूप में होता है और ज्यादातर रचनाएं हिन्दू देवी-देवताओं को समर्पित होती हैं. त्यागराज, मुथुस्वामी दीक्षितार और श्यामा शास्त्री को कर्नाटक संगीत शैली की 'त्रिमूर्ति' कहा जाता है, जबकि पुरंदर दास को अक्सर कर्नाटक शैली का पिता कहा जाता है.

कर्नाटक चुनाव परिणाम 2018: BJP ऐसे बना सकती है सरकार, ये हैं 10 आधार
 
hampi
 
5. भारत में मुगल साम्राज्य से ज्यादा विजयनगर साम्राज्य का आधि‍पत्‍य रहा. 1336-1646 में विजयनगर दक्षिण भारत का एक साम्राज्य था.  इसके राजाओं ने 310 साल राज किया. विजयनगर के अवशेष कर्नाटक राज्य में हम्पी शहर के निकट पाए गये हैं और यह एक विश्व विरासत स्थल है. 

टिप्पणियां
कर्नाटक में राजनैतिक उठापटक के बीच अरुण जेटली के ट्वीट को 'हथियार' बना रहा है विपक्ष
 
mysore palace dussehra

6. कर्नाटक राज्य के सबसे मशहूर मैसूर पैलेस को 1912 में कृष्णराजा वाडियारIV  ने बनवाया था. आगरा के ताजमहल के बाद इस पैलेस को देखने के लिए सबसे ज्‍यादा पर्यटक आते हैं.
 
7. गोल गुंबद कर्नाटक राज्य के बीजापुर शहर में स्थित आदिलशाही वंश के सातवें शासक मुहम्मद आदिलशाह का मकबरा है. यह दुनिया का दूसरा सबसे विशाल गुम्बद है. इस विशाल गुम्बद के बनने में बीस साल का समय लगा था.

कर्नाटक: सरकार पर सस्पेंस बरकरार, राज्यपाल वजुभाई वाला पर टिकी सबकी निगाहें
 
8. बेंगलुरु पैलेस 1826 में गेरेट ने बनवाया था. वो सेंट्रल हाई स्कूल के पहले प्रिंसिपल भी थे. 
 
9. 1935 में भारत का पहला प्राइवेट रेडियो ब्रॉडकास्टिंग स्टेशन शुरू करने वाले एमवी गोपालस्वामी कर्नाटक के ही थे.
 
10. 1859 में मैसूर शहर में पहला साप्ताहिक समाचार पत्र पब्लिश हुआ था, जो कन्नड़ भाषा में था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement