NDTV Khabar

YouTube के 'स्टार' पर अमेरिका में नफरत फैलाने का आरोप, 16 करोड़ बार देखा गया 'माफीनामा'

7 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
YouTube के 'स्टार' पर अमेरिका में नफरत फैलाने का आरोप, 16 करोड़ बार देखा गया 'माफीनामा'

फिलिक्स जेलबर्ग के इस वीडियो को 16,865,715 बार देखा जा चुका है.

लंदन: भले ही सोशल मीडिया की लोग बुराइयां करें, लेकिन देखा जाए तो यह किसी भी इंसान को अपनी बात दुनिया तक पहुंचाने का मंच है. अगर किसी इंसान के बारे में समाज में कोई गलत संदेश चला जाए तो वह सोशल मीडिया के जरिए अपनी बात लोगों के सामने रख सकता है. ऐसी ही एक मामला स्वीडिश मूल के यूट्यूब सेलिब्रिटी का मूल नाम फिलिक्स जेलबर्ग (27) का है. इंग्लैंड में रहने वाले फिलिक्स जेलबर्ग इंटरनेट की दुनिया में 'प्यूडाइपाई' नाम से जाने जाते हैं. पिछले दिनों उन पर आरोप लगा कि वे अमेरिका में नफरत फैलाने वाले अभियान का समर्थन करते हैं. इस पर उन्होंने वीडियो के माध्यम से सफाई दी है. 

उन्होंने कहा कि वे दुनिया के ऐसे किसी समूह का समर्थन नहीं करते हैं, जो लोगों के बीच नफरत फैलाने का काम करते हैं. वे उन समूहों के बारे में बिल्कुल बात नहीं करना चाहते, जो लोगों को विभाजित करते हैं. जो लोगों में असामनता दिखाने की कोशिश करते हैं. इसी साल 16 फरवरी को यूट्यूब पर डाले गए इस वीडियो को 16,865,715 बार देखा जा चुका है. दो लाख लोगों ने प्रतिक्रियाएं भी दी हैं. ज्यादातर लोगों ने फेलिक्स को सही माना है.

टिप्पणियां

फिलिक्स जेलबर्ग कॉमेडियन, वीडियो प्रोड्यूसर के साथ किसी विषय, घटना या उत्पादों पर अपनी प्रतिक्रिया देते हैं. यूजर उनके रिव्यू  को पसंद करते हैं. साल 2014 में फिलिक्स यूट्यूब से 24 लाख रुपए सालाना कमाते थे. वह इटंरनेट के स्टार कहलाते हैं. 

उनके चैनल का नाम है पीयूडाईपाई और उसके 2 करोड़ 70 लाख दर्शक हैं. यह तादाद सबसे ज्यादा है. दिलचस्प बात यह है कि फेलिक्स इस चैनल में कोई खास करतब नहीं दिखाते हैं. वह गेम खेलते हैं, बातें करते हैं, चिल्लाते हैं और गालियां भी देते हैं. उन्हें देखने के लिए दर्शक उतावले रहते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement