NDTV Khabar

जब लालू यादव ने कहा, 'मोदी' तुम्हारा फूफा है...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब लालू यादव ने कहा, 'मोदी' तुम्हारा फूफा है...

बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी और आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव में ट्विटर वार.

खास बातें

  1. सुशील कुमार मोदी ने ट्विटर पर लालू पर लगाया आरोप
  2. लिखा, लालू मेरे रिश्तेदार पर बना रहे दबाव
  3. गुस्से में लालू का पलटवार, आरके मोदी तुम्हारा मौसा है या फूफा
नई दिल्ली: बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के लगाए एक आरोप पर आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ट्विटर तमतमा गए. दरअसल, सुशील मोदी ने ट्वीट लालू यादव और उनके बेटों पर मिट्टी घोटाले का आरोप लगाया. साथ ही आरोप लगाया कि लालू यादव उनके रिश्तेदारों पर दबाव बना रहे हैं, ताकि मैं उनके घोटालों को उजागर न करुं. इस ट्वीट पर लालू यादव को गुस्सा आ गया. लालू ने इस ट्वीट पर कमेंट किया, 'रिश्तेदार बताते हो, बताओ आरके मोदी तुम्हारा मौसा है या फूफा? रिश्तेदारी की चादर लंबी होती है माँ-जाये सगे भाई को रिश्तेदार मत बताओ।' हालांकि लालू के इस कमेंट पर लोग उनके साथ कम और सुशील कुमार मोदी के पक्ष में ज्यादा कमेंट कर रहे हैं. आइए लालू और सुशील मोदी के बीच जारी ट्विटर वार पर लोगों के कमेंट पर नजर डालें. सुशील मोदी के ये हैं आरोप

मालूम हो कि बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर कथित मिट्टी घोटाले का आरोप लगा रहे हैं. मोदी ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में भी लालू के खिलाफ जांच कराने की हिम्मत नहीं है. उन्होंने कहा कि चारा घोटाले के दौरान भी लालू प्रसाद ने अधिकारियों से जांच करवा कर क्लीन चिट ले लिया था, मगर बाद में लालू सहित कई अधिकारियों को जेल की हवा खानी पड़ी थी.

बीजेपी नेता ने कहा कि पहले मुख्य सचिव ने कहा कि केवल संचिका मंगाई है कोई जांच का आदेश नहीं दिया है. जब जांच हुई ही नहीं तो फिर लालू प्रसाद को क्लीन चिट कैसे दे दिया? सुशील मोदी का आरोप है, 'लालूजी आपने मॉल की मिट्टी को बिना टेंडर के अपने बेटे के विभाग को 90 लाख रुपये में बेच दिया, जो राज्य सरकार में मंत्री है. यह तो आम के आम, गुठली के दाम को चरितार्थ करती है.' 

उन्होंने कहा कि जब लालूजी मिट्टी घोटाले की जांच के लिए तैयार हैं तब फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार देर क्यों कर रहे हैं? उन्होंने कहा कि मानहानि के मुकदमे की धमकी से डरने वाला नहीं हूं. आधा दर्जन मुकदमा लड़ रहा हूं. मैं अपने बयान पर कायम हूं.

भाजपा नेता ने दावा किया कि डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड में तेज प्रताप यादव, तेजस्वी यादव और चंदा यादव को 20 जून 2014 को निदेशक बनाया गया. इस कंपनी को 2 एकड़ जमीन हस्तांतरित की गई. इसी जमीन पर बिहार में एक बड़ा शापिंग मॉल बन रहा है जिसका निर्माण राजद से सुरसंड के विधायक सैयद अबू दौजान की कंपनी कर रही है. 

टिप्पणियां
उन्होंने आरोप लगाया कि इस निर्माणधीन शापिंग मॉल का संबंध लालू प्रसाद के परिवार से है और उसके दो अंडरग्राउंड फ्लोर की मिट्टी संजय गांधी जैविक उद्यान को 90 लाख रुपये में बेची गई.

सुशील मोदी ने कहा कि संजय गांधी जैविक उद्यान पर्यावरण एवं वन विभाग के अंतर्गत आता है जिसके मंत्री लालू प्रसाद के पुत्र तेज प्रताप हैं. उन्होंने कहा कि इस मॉल की मिट्टी को बिकवाने के लिए सौंदर्यीकरण के नाम पर अनावश्यक रूप से 90 लाख रुपये का अनुमान पगडंडी बनाने के नाम पर किया गया. भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद का परिवार अपने मॉल की मिट्टी को अपने ही विभाग को बेचकर 90 लाख रुपये की कमाई कर चुका है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement