NDTV Khabar

मिस्ड कॉल से शुरू हुई लव स्टोरी, 45 साल की सलोनी को मिला 41 साल का दूल्हा

कटिहार जिले के कुर्सेला में राजेश और सलोनी का प्रेम विवाह हुआ. शादी के बाद सलोनी ने बताया कि एक दिन वह कहीं कॉल लगा रही थी गलती से बोकारो में रहने वाले राजेश मुर्मु को कॉल लग गया. गलत जगह कॉल लगने पर सलोनी ने फोन कट कर दिया. फिर राजेश का कॉल आया और पूछा कि आपका मिस्ड कॉल आया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मिस्ड कॉल से शुरू हुई लव स्टोरी, 45 साल की सलोनी को मिला 41 साल का दूल्हा

बिहार में मिस्ड कॉल से शुरू हुई लव स्टोरी शादी के मुकाम तक पहुंची है. तस्वीर: प्रतीकात्मक

खास बातें

  1. बिहार के कटिहार में सामने आई अनोखी लव स्टोरी
  2. मिस्ड कॉल से सलोनी और राजेश के बीच हुआ प्यार
  3. एक बेटी मां सलोनी ने राजेश से मंदिर में रचाई शादी
कटिहार: इन दिनों पूरी दुनिया में डिजिटल इंडिया की बात हो रही है. इसी चर्चा के बीच बिहार में 'डिजिटल लव स्टोरी' का मामला सामने आया है. यहां मिस्ड कॉल से शुरू हुई लव स्टोरी शादी के मुकाम तक पहुंची है. कटिहार जिले में रहने वाली 45 वर्षीय सलोनी को मिस्ड कॉल के जरिए चार साल छोटे 41 साल के राजेश से प्यार हो गया. अब दोनों एक-दूसरे को पाकर काफी खुश हैं. इस लव स्टोरी में सबसे खास बात यह है मैम बिहार की और बाबू झारखंड के हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूरे जिले में इस लव स्टोरी की चर्चा है. लोग इसे डिजिटल लव स्टोरी कहकर संबोधित कर रहे हैं. स्थानीय अखबारों में भी इस शादी की खबरें प्रकाशित की गई हैं.

टिप्पणियां
कटिहार जिले के कुर्सेला में राजेश और सलोनी का प्रेम विवाह हुआ. शादी के बाद सलोनी ने बताया कि एक दिन वह कहीं कॉल लगा रही थी गलती से बोकारो में रहने वाले राजेश मुर्मु को कॉल लग गया. गलत जगह कॉल लगने पर सलोनी ने फोन कट कर दिया. फिर राजेश का कॉल आया और पूछा कि आपका मिस्ड कॉल आया था. पहले दिन तो माफी मांगकर दोनों ने फोन कट कर दिया. अगले दिन राजेश ने फिर उसी नंबर पर कॉल किया. सलोनी ने पहले तो बात करने से मना कर दिया, लेकिन राजेश इतने सलीके से बोल रहे थे कि वह चाहकर भी फोन नहीं रख पाईं.

देखते-देखते ही दोनों में लगातार बातचीत होने लगी और प्यार हो गया. करीब एक साल बातचीत के बाद दोनों ने शादी का फैसला लिया. इस लव स्टोरी में दिलचस्प बात यह भी है कि सलोनी पहले से शादी-शुदा हैं और उनकी एक बेटी भी है. सलोनी कस्तूरबा बालिका विद्यालय कुर्सेला में वार्डन हैं. राजेश शादी के इरादे से सलोनी से मिलने कस्तूरबा विद्यालय पहुंचे तो गांव वालों ने इसका विरोध शुरू कर दिया, लेकिन दोनों की रजामंदी के सामने वे झुक गए. आखिरकार गांव वाले ही दोनों को कुर्सेला बल्थी के महेशपुर गांव के मंदिर में ले गए और उनकी शादी करवा दी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement