एमपी में महिला पुलिसकर्मी ने दुल्‍हन बनकर बिछाया जाल, सलाखों के पीछे पहुंचाया खूंखार बदमाश

पुलिस को जानकारी मिली थी कि बालकृष्ण जल्द शादी करना चाहता है और इसलिए पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए एक योजना तैयार की.

एमपी में महिला पुलिसकर्मी ने दुल्‍हन बनकर बिछाया जाल, सलाखों के पीछे पहुंचाया खूंखार बदमाश

अपराधी को पकड़ने के लिए महिला पुलिसकर्मी ने दिया शादी का झांसा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की महिला पुलिसकर्मी ने काफी वक्त से फरार चल रहे आरोपी को पकड़ने के लिए उसके साथ शादी करने का जाल बिछाया और उसे गिरफ्तार कर लिया. दरअसल, जघन्‍य अपराधी बालकृष्ण चौबे (Balkrishna Chaubey) की तलाश पुलिस 15 मामलों में कर रही थी, जिसमें एक मर्डर केस भी शामिल है. लेकिन कई बार कोशिश करने के बाद भी पुलिस अपराधी को गिरफ्तार नहीं कर पाई थी. इसके बाद पुलिस ने बालकृष्ण को पकड़ने के लिए शादी का जाल बिछाया. 

यह भी पढ़ें: MP हनीट्रैप मामले के वीडियो पब्लिश करने पर मीडिया संस्थान के मालिक के घर पड़ा पुलिस का छापा

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, अपराधी बालकृष्ण हर बार पुलिस के जाल से बचकर भाग जाता था. हालांकि, इस बार पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए पूरी तैयारी करी थी. पुलिस को जानकारी मिली थी कि बालकृष्ण जल्द शादी करना चाहता है और इसलिए पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए एक योजना तैयार की. पुलिसकर्मचारी माधवी अग्नीहोत्री ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ''मैंने उससे राधा लोधी बन कर बात करनी शुरू की. मैंने उसे बताया कि मैं मध्यप्रदेश के छतरपुर से हूं और दिल्ली में मजदूरी करती हूं. मैंने उसे कहा कि मैं कुछ दिनों के लिए अपने गांव जा रही हूं''. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बालकृष्ण ने मौके का फायदा उठाते हुए महिला पुलिसकर्मी को शादी का प्रस्ताव दिया. महिला पुलिसकर्मी माधवी ने 3 दिन तक अपराधी से फोन पर बात की और उसके बाद उसे एक मंदिर में मिलने के लिए बुलाया. वह, शादी करने से पहले एक बार मिलना चाहता था और इसी दौरान पुलिस ने जाल बिछाते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया. माधवी और चौबे जिस दिन मिलने वाले थे, उस दिन पुलिसकर्मी सामान्य कपड़ों में पहले से ही मौके पर पहुंच गए थे और बालकृष्ण के वहां आते ही उसे गिरफ्तार कर लिया. 

बता दें, एक युवक की हत्या के आरोप में चौबे पर 10,000 का इनाम था. बालकृष्ण चौबे को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसे शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया था.