NDTV Khabar

Jallikattu देखने पहुंचे लोगों के पीछे पड़े सांड, जमकर मचा बवाल, ऐसे पूरा हुआ आयोजन

बुधवार को तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों में जलीकट्टू का आयोजन किया गया जिसमें 641 सांडों और 607 लोगों ने हिस्‍सा लिया.एक अधिकारी ने ‘पीटीआई’ को बताया कि इस खेल में भाग ले रहे 641 सांडों में से 397 को कोई काबू नहीं कर सका और वे विजयी रहे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Jallikattu देखने पहुंचे लोगों के पीछे पड़े सांड, जमकर मचा बवाल, ऐसे पूरा हुआ आयोजन

तमिलनाडु में जोर-शोर से जलीकट्टू का आयोजन, 62 लोग घायल

पोंगल के अवसर पर बुधवार को तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों में जलीकट्टू का आयोजन किया गया जिसमें 641 सांडों और 607 लोगों ने हिस्‍सा लिया. एक अधिकारी ने ‘पीटीआई' को बताया कि इस खेल में भाग ले रहे 641 सांडों में से 397 को कोई काबू नहीं कर सका और वे विजयी रहे. क्रीडा स्थल के आसपास कई तरह के निर्देश बोर्ड लगे हैं जैसे कि ‘सींग को न पकड़ें', ‘कई लोग एक जानवर के पीछे न भागें', ‘सांडों को जाने दें.'

खुले में शौच को रोकने के लिए जब सारे तरीके हो गए फेल तो नगर पालिका को आया ये आइडिया

अवनीपुरम में भी जलीकट्टू का आयोजन उत्साह से हुआ. इसी तरह पलामेडू में कल और अलंगानल्लूर में 17 जनवरी को इसका आयोजन होगा. इस खेल के दौरान सांडों को वश में करने की कोशिश की जाती है. अगर किसी ने उस पर नियंत्रण कर लिया तो वह विजेता, नहीं तो सांड की जीत होती है. हर राउंड में करीब 60 से 70 भागीदार खास तरह का टी-शर्ट पहनकर इस खेल में हिस्सा लेते हैं.

TikTok Viral Video: शहनाज के पापा ने की सिद्धार्थ शुक्ला की एक्टिंग, बेटी को बोले- 'पेट कम कर...'


सांड को छोड़ने के बाद लोग उसे पकड़ने का दृश्य देखने के लिए बड़ी संख्या में इकट्ठा होते हैं. कई विदेशी पर्यटक भी पहुंचते हैं. एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि भागीदारों और सांडों के चिकित्सकीय निरीक्षण के बाद उन्हें इसमें हिस्सा लेने की अनुमति मिलती है.

टिप्पणियां

अरविंद केजरीवाल के वीडियो-कॉल की ये Photo हुई वायरल, जमकर बन रहे हैं मजेदार Memes

शराब के नशे में जो लोग थे, उन्हें इस खेल में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं दी गयी. कमजोर सांडों को भी इसमें शामिल करने की इजाजत नहीं मिली. अधिकारियों ने बताया कि खेल में हिस्सा लेने वाले भागीदार, दर्शक और सांड मालिकों सहित 62 लोग घायल हो गए. इनमें 34 प्रतिभागी और 28 दर्शक हैं. इनमें से आठ को सरकारी राजाजी अस्पताल ले जाया गया है. हालांकि, कोई भी सांड घायल नहीं हुआ है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... राजगढ़ के थप्पड़ कांड को लेकर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार और कलेक्टर से जवाब मांगा

Advertisement