NDTV Khabar

इस कर्मचारी को ज्यादा काम करना पड़ गया भारी, गंवानी पड़ गई जॉब

इस कर्मचारी का नाम जीन पी है और वह सुपरमार्केट कर्मचारी था. उसकी बर्खास्तगी का प्रमुख कारण यहीं था कि वह काफी ज्यादा काम करता था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस कर्मचारी को ज्यादा काम करना पड़ गया भारी, गंवानी पड़ गई जॉब

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. इस कर्मचारी को ज्यादा काम करना पड़ गया भारी, गंवानी पड़ गई जॉब
  2. इस कर्मचारी का नाम जीन पी है और वह सुपरमार्केट कर्मचारी था
  3. कर्मचारी ने अपने पूर्व मालिकों के खिलाफ मुकदमा दायर किया है.
नई दिल्ली: किसी भी कंपनी में काम करने वाला कर्मचारी अपने वर्किंग ऑवर से ज्यादा काम करे, तो यहीं सोचता है कि उसका प्रमोशन होगा. वह सोचता है कि बॉस उसके काम से खुश होंगे और उसकी तरक्की होगी. लेकिन एक ऐसी खबर आई है, जिसे जानने के बाद आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि सच में ऐसा हो सकता है. दरअसल, स्पेन के बार्सिलोना में एक कर्मचारी को ज्यादा काम करने के कारण अपनी जॉब गंवानी पड़ गई. कंपनी में ज्यादा काम करके वह कर्मचारी सोच रहा था कि इस बार वह बेस्ट इंप्लॉई का अवॉर्ड जितेगा, लेकिन हुआ इसका उल्टा और उसे अपनी जॉब भी गंवानी पड़ गई.
 
यह भी पढ़ें: ऑनलाइन होने के बाद वायरल हुई स्टीफन हॉकिंग की पीएचडी थीसिस, अब तक 20 लाख बार देखी गई

बताया जा रहा है कि इस कर्मचारी का नाम जीन पी है और वह सुपरमार्केट कर्मचारी था. उसकी बर्खास्तगी का प्रमुख कारण यहीं था कि वह काफी ज्यादा काम करता था. उसका रूटीन बन गया था कि वह ऑफिस जल्दी आता था और वर्किंग ऑवर खत्म होने के बाद भी ऑफिस में रूक कर काम करता रहता था. इस कर्मचारी ने अब फैसला किया है वह ‘लिडल’ के अपने पूर्व मालिकों के खिलाफ मुकदमा दायर करेगा.

यह भी पढ़ें: इस छोरी के आगे अंग्रेज भी अंग्रेजी बोलना छोड़ दे, मिलिए भारत की वंडर गर्ल से

यूरो न्यूज के मुताबिक, समर्पित प्रबंधक नियमित रूप से बार्सिलोना स्थित अपने ऑफिस की शाखा में 5 बजे तक पहुंच जाता था और शिफ्ट ओवर होने के बाद भी काम करता रहता था. मेट्रो रिपोर्टों के मुताबिक, वह अंततः अवैतनिक ओवरटाइम पर कंपनी के नियमों का उल्लंघन करने और अकेले स्टोर में रहने के लिए निकाल दिया गया था. क्योंकि यह दोनों चीजें कंपनी के नियमों के खिलाफ थीं.

यह भी पढ़ें: कैसे दिखते हैं एलियंस? आखिरकार मिल गया इस सवाल का जवाब, जानिए

टिप्पणियां
इस मामले के संबंध में जीन के वकील जुआन गुएरा ने बताया कि जीन इस कंपनी में पिछले 12 सालों से काम कर रहा था, लेकिन उसके मालिकों ने उसे कभी नहीं बताया कि ऑफिस में जल्दी नहीं आ सकते. उन्होंने यह भी बताया कि जीन पर कंपनी के प्रोडक्ट्स को सेल करने का दबाव भी उसके ऊपर था, इसलिए जीन कंपनी में जल्दी आता और देर से जाता. जीन ने जो भी किया अंत में उसके फायदा कंपनी को ही मिलता, लेकिन फिर भी उसे जॉब से निकाल दिया गया. 

VIDEO: कुत्ते को घुमाने को लेकर दिल्ली के सफदरजंग इलाके में चली गोली इस मामले पर अब भी सुनवाई जा रही है और ट्रिब्यूनल जीन की नौकरी को पुनर्स्थापित करने का फैसला कर सकता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement