बिल्ली की फोटो ट्वीट कर मुंबई पुलिस ने कहा- सिर्फ 'म्याऊ म्याऊ' को ही दी जाएगी परमिशन

यह सिर्फ एक मैसेज नहीं है बल्कि एक वार्निंग है. आपको बता दें कि यहां "म्याऊ म्याऊ" का मतलब एक 'स्ट्रीट ड्रग' से है. इसका साइंटिफिक नाम "mephedrone" है.

बिल्ली की फोटो ट्वीट कर मुंबई पुलिस ने कहा-  सिर्फ 'म्याऊ म्याऊ' को ही दी जाएगी परमिशन

मुंबई पुलिस ने बिल्ली की फोटो किया ट्वीट

मुंबई पुलिस (Mumbai Police) एक बार फिर से मजाकिया और क्रिएटि‍व ट्वीट की वजह से खासा सुर्खियों में है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, केवल 'म्याऊ म्याऊ' को स्वीकार किया जाएगा. साथ ही हैशटैग #SayNoToDrugs के साथ इस पोस्ट को शेयर किया. साथ ही उन्होंने लिखा, यह सिर्फ एक मैसेज नहीं है बल्कि एक वार्निंग है. आपको बता दें कि यहां "म्याऊ म्याऊ" का मतलब एक 'स्ट्रीट ड्रग' से है. इसका साइंटिफिक नाम "mephedrone" है, सिर्फ इतना ही नहीं यह ड्रग 'कोकीन' की तरह इंसान के शरीर में प्रभाव पैदा करती है. व्यक्ति के शरीर पर इसके लक्षणों में दांत पीसना शामिल है. ''म्याऊ म्याऊ" का प्रसार साल 2007 के आसपास शुरू हुआ, जब इंटरनेट पर इसकी बिक्री शुरू हुई.

सिंथेटिक वीड की तरह यह इसे भी अनुसूची 1 के ड्रग लिस्ट में शामिल किया गया है. भारत में हर साल 2 अक्टूबर को राष्ट्रीय नशा विरोधी दिवस के रूप में मनाया जाता है. महात्मा गांधी ने भी अपने भाषणों में ड्रग्स के इस्तेमाल की निंदा की थी.

गौरतलब है कि मादक पदार्थों की लत दिमागी बीमारियों की ओर ले जाती है, और सब कुछ बरबाद कर देती है - जैसे कैरियर,फैमिली, रिश्ते, दोस्त और एक अच्छा व्यक्ति. डॉक्टरों का कहना है कि ज्यादातर लोग इस ड्रग्स का इस्तेमाल, मस्ती और दोस्तों की संगत के चक्कर में लेना शुरू कर देते हैं. आपको बता दें कि नशीली दवाओं की लत से निपटना काफी मुश्किल हो सकता है, लेकिन लोग इसे आराम से कही से भी जुगाड़ कर लेते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com