NDTV Khabar

23 साल की उम्र में शादी छोड़ भाग गए थे Nelson Mandela, पढ़ें ऐसे ही 5 Facts

Nelson Mandela की आज 100वीं जयंती है. नेल्सन मंडेला का जन्म 18 जुलाई 1918 को दक्षिण अफ्रीका के वेज़ो (Mvezo) में हुआ था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
23 साल की उम्र में शादी छोड़ भाग गए थे Nelson Mandela, पढ़ें ऐसे ही 5 Facts

Nelson Mandela की आज 100वीं जयंती है.

Nelson Mandela की आज 100वीं जयंती है. नेल्सन मंडेला का जन्म 18 जुलाई 1918 को दक्षिण अफ्रीका के वेज़ो (Mvezo) में हुआ था. दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद को खत्म करने में अग्रणी भूमिका निभाकर दुनिया भर में अन्याय के खिलाफ प्रतिरोध का प्रतीक बन चुके नेल्सन मंडेला ने न सिर्फ पूरे अफ्रीकी महाद्वीप को, बल्कि दुनिया के दूसरे हिस्सों को भी स्वतंत्रता की भावना से ओत-प्रोत किया था. मंडेला फेफड़ों के संक्रमण से ग्रस्त थे और लंबी बीमारी के बाद 5 दिसंबर 2013 में उनका निधन हो गया था. बता दें, 23 साल की उम्र में शादी से भागकर परिवार को छोड़कर जोहानिसबर्ग भाग गए थे. जिसके बाद लंबा संघर्ष कर शांति के दूत बने. पढ़ें नेल्सन मंडेला से जुड़ी 5 दिलचस्प बातें...

दुनिया भर से बच्चों के पास है नेल्सन मंडेला को संदेश देने का मौका...
 
nelson mandela

1. 1941 में 23 साल की उम्र में जब उनकी शादी की जा रही थी, तब मंडेला सब कुछ छोड़ कर जोहानिसबर्ग भाग गए. दो साल बाद वह अफ्रीकानेर विटवाटरस्रांड विश्वविद्यालय में वकालत की पढ़ाई करने लगे, जहां उनकी मुलाकात सभी नस्लों और पृष्टभूमि के लोगों से हुई. इस दौरान वह उदारवादी, कट्टरपंथी और अफ्रीकी विचारधाराओं के संपर्क में आए, साथ ही उन्होंने नस्लभेद और भेदभाव को महसूस किया, जिससे राजनीति के प्रति उनमें जुनून पैदा हुआ.

Nelson Mandela: अफ्रीका के 'गांधी' नेल्‍सन मंडेला के ये 10 विचार जिंदगी में दिलाएंगे सक्सेस

2. 1944 में एवेलिन मैसे के साथ उनकी पहली शादी हुई, जिनसे उनके चार बच्चे हुए. 1958 में दोनों का तलाक हो गया. इसके बाद मंडेला ने वकालत शुरू कर दी और 1952 में ओलिवर टांबो के साथ मिलकर देश के पहले अश्वेत वकालत संस्था की शुरुआत की.

3. 1956 में 155 अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मंडेला पर देशद्रोह का मामला चला, लेकिन चार साल की सुनवाई के बाद उनके खिलाफ लगे आरोप हटा लिए गए. 1958 में मंडेला ने विनी मादीकीजेला से शादी की, जिन्होंने बाद में अपने पति को कैद से रिहा कराने के लिए चलाए गए अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

नेल्सन मंडेला के भतीजे दक्षिण अफ्रीकी राजा की 12 साल जेल की सजा शुरू

टिप्पणियां
4. अपनी जिंदगी के 27 साल जेल की अंधेरी कोठरी में काटने वाले मंडेला अपने देश के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने थे, जिससे देश पर अब तक चले आ रहे अल्पसंख्यक श्वेतों के अश्वेत विरोधी शासन का अंत हुआ और एक बहु-नस्ली लोकतंत्र का उद्भव हुआ.

5. मंडेला महात्मा गांधी के अहिंसा के सिद्धांतों, विशेषकर वकालत के दिनों में दक्षिण अफ्रीका के उनके आंदोलनों से प्रेरित थे. मंडेला ने भी हिंसा पर आधारित रंगभेदी शासन के खिलाफ अहिंसा के माध्यम से संघर्ष किया. 95-वर्षीय मंडेला का भारत में बहुत सम्मान है. 1990 में उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' से सम्मानित किया गया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement