ये है प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मंत्रिपरिषद...

खास बातें

  • मनमोहन के नेतृत्व वाली सप्रंग सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले मंत्रिपरिषद विस्तार और फेरबदल में तीन राज्य मंत्रियों को कैबिनेट मंत्री बनाया है।
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले मंत्रिपरिषद विस्तार और फेरबदल में तीन राज्य मंत्रियों को कैबिनेट मंत्री बनाया है और तीन नए चेहरों को इसमें राज्य मंत्री बनाया गया है। प्रधानमंत्री ने मंत्रियों के विभागों में भी फेरबदल किया है। इस विस्तार और फेरबदल के बाद प्रधानमंत्री की मंत्रिपरिषद का स्वरूप इस प्रकार हो गया है।कैबिनेट मंत्री :- प्रफुल्ल पटेल : भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उपक्रम। श्रीप्रकाश जायसवाल : कोयला। सलमान खुर्शीद : जल संसाधन एवं अल्पसंख्यक मामलों का अतिरिक्त प्रभार। शरद पवार : कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग। वीरभद्र सिंह : सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यम। विलासराव देशमुख : ग्रामीण विकास और पंचायत राज का अतिरिक्त कार्यभार। एस. जयपाल रेड्डी : पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस। कमलनाथ : शहरी विकास। वायलार रवि : प्रवासी भारतीय मामलों एवं नागरिक उड्डयन मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार। मुरली देवड़ा : कार्पोरेट मामलों का प्रभार। कपिल सिब्बल : मानव संसाधन विकास और दूरसंचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार। बीके हांडिक : पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय। सीपी जोशी : सड़क परिवहन एवं राजमार्ग। कुमारी शैलजा : आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन और संस्कृति का अतिरिक्त कार्यभार। सुबोध कांत सहाय : पर्यटन। एमएस गिल : सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्यवन। पवन कुमार बंसल : संसदीय कार्यमंत्री और विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं पृथ्वी विज्ञान का अतिरिक्त कार्यभार।राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)। बेनी प्रसाद वर्मा : इस्पात। अजय माकन : युवा मामलों एवं खेल। दिनशॉ पटेल : खान। केवी थॉमस : उपभोक्ता मामलों, खाद्य एवं जन वितरण।राज्य मंत्री :- अश्विनी कुमार : योजना एवं संसदीय कार्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान। केसी वेणुगोपाल : ऊर्जा। ई. अहमद : विदेश मंत्री। हरीश रावत : कृषि और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग। वी. नारायणस्वामी : संसदीय कार्यमंत्री एवं कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, प्रधानमंत्री कार्यालय। गुरुदास कामत : गृह मंत्रालय। ए. साई प्रताप : भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम। भरतसिंह सोलंकी : रेलवे। जितिन प्रसाद : सड़क परिवहन एवं राजमार्ग। महादेव एस. खंडेला : जनजाति मंत्रालय। आरपीएन सिंह : पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और कार्पोरेट मामले। तुषारभाई चौधरी : सड़क परिवहन एवं राजमार्ग। अरुण यादव : कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग। प्रतीक प्रकाशबापू पाटील : कोयला। विंसेट पाला : जल संसाधन एवं अल्पसंख्यक मामले। 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com