आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान, वहीं मंत्री जी ने करोड़ों का सरकारी विज्ञापन दिला दिया अपने ही अखबार को...

गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में मीडिया की माली हालत भी खस्ता है. लेकिन, इसी माहौल में पेशावर का कोई खास पहचान न रखने वाला अखबार बहुत अच्छी कमाई कर रहा है.

आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान, वहीं मंत्री जी ने करोड़ों का सरकारी विज्ञापन दिला दिया अपने ही अखबार को...

गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में मीडिया की माली हालत भी खस्ता है. लेकिन, इसी माहौल में पेशावर का कोई खास पहचान न रखने वाला अखबार बहुत अच्छी कमाई कर रहा है. इस सफलता का राज यह है कि इसका मालिक खैबर पख्तूनख्वा प्रांत का एक मंत्री है जिसके मंत्री बनने के बाद इस अखबार को मिलने वाले विज्ञापनों की ढेर लग गई.

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में खुला पहला बिजली थाना, पहले ही दिन दर्ज हुए 8 मामले

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है. इसमें बताया गया है कि अखबार की वास्तविक प्रसार संख्या की जांच-पड़ताल किए बिना इसके विज्ञापनों में बढ़ोतरी कर दी गई और रेट भी बढ़ाकर दिए गए. रिपोर्ट में कहा गया है कि अखबार को अपने मालिक प्रांतीय मंत्री के जरिए पांच करोड़ 74 लाख 20 हजार रुपये का रिकार्ड बिजनेस मिला है.

ये भी पढ़ें: मोहम्मद शमी ने इमरान खान की धमकी पर दिया बयान, बोले- 'पाकिस्तान को ऐसा नेता चाहिए जो...'

रिपोर्ट में मंत्री का नाम नहीं दिया गया है लेकिन उनके हवाले से कहा गया है कि विज्ञापन देने में कोई गड़बड़ी नहीं की गई है और वह तो अखबार के मालिक भी नहीं हैं. हालांकि, सरकारी दस्तावेज से खुलासा हुआ है कि इन्होंने अखबार के प्रकाशन के अधिकार तो अपने भाई के नाम कर दिए हैं लेकिन इसकी छपाई का अधिकार अभी भी अपने पास रखा हुआ है. इस बारे में जब उनसे फोन पर पूछा गया तो उन्होंने यह कहते हुए लाइन काट दी कि 'जो मन चाहे, वह लिखो.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के इस आदमी का हर अंग है गलत जगह पर, दिल धड़कता है दाएं तरफ

रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रांत में हितों के टकराव को रोकने के संबंध में एक स्पष्ट कानून मौजूद है लेकिन मंत्री इसका उल्लंघन कर रहे हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)