जिसने थमाई थी वर्ल्ड कप ट्रॉफी उसी ने छीनी पाकिस्तान की गद्दी, Imran Khan ने ऐसे किया नवाज शरीफ को क्लीन बोल्ड

Pakistan Election 2018: पाकिस्तान में इमरान खान की पीटीआई पार्टी सरकार बनाने जा रही है. Imran Khan पाकिस्तान के तेज गेंदबाज रहे हैं और उनकी ही कप्तानी में पाकिस्तान 1992 में क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता था.

जिसने थमाई थी वर्ल्ड कप ट्रॉफी उसी ने छीनी पाकिस्तान की गद्दी, Imran Khan ने ऐसे किया नवाज शरीफ को क्लीन बोल्ड

पाकिस्तान को क्रिकेट चैम्पियन बनाने वाले इमरान खान का पीएम बनना तय.

Pakistan Election 2018 में पाकिस्तान में इमरान खान की PTI पार्टी सरकार बनाने जा रही है. Imran Khan पाकिस्तान के तेज गेंदबाज रहे हैं और उनकी ही कप्तानी में पाकिस्तान 1992 में क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता था. उस वक्त पाकिस्तान के प्रधानमंत्री Nawaz Sharif थे. पाकिस्तान को चैम्पियन बनाने के बाद कप्तान इमरान खान ने पीएम नवाज शरीफ को ट्रॉफी सौपी थी. नवाब शरीफ ने पाकिस्तान टीम को डिनर पर बुलाया था. पाकिस्तान ने उस समय वर्ल्ड कप जीता जिस वक्त पाकिस्तान क्रिकेट में नये आयाम तलाश कर रही थी. 

Pakistan Election Results 2018 LIVE UPDATES: इमरान खान की पार्टी को भारी बढ़त, समर्थकों ने अंतिम नतीजों से पहले शुरू किया जश्‍न मनाना

अब जेल में हैं नवाज शरीफ
फिलहाल पाकिस्तान का प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी हैं. इससे पहले पीएमएल के ही नवाज शरीफ प्रधानमंत्री थे. लंदन के एवेनफील्ड प्रॉपर्टीज मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद उनको गिरफ्तार कर लिया गया. लंदन में चार लग्जरी फ्लैट के मालिकाना हक को लेकर छह जुलाई को जवाबदेही अदालत द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद शरीफ (68), उनकी बेटी मरियम (44) और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर रावलपिंडी के आदियाला जेल में क्रमश: 10 वर्ष, 7 वर्ष और 1 वर्ष कैद की सजा भुगत रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पाकिस्‍तान चुनाव: मशहूर क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान को विरोधी कहते हैं 'तालिबान खान', 8 बातें

20 साल के क्रिकेट करियर में इमरान खान ने शानदार परफॉर्मेंस दी और पाकिस्तान को नए मुकाम तक पहुंचाया. इमरान ने 88 टेस्ट मैच खेलते हुए 362 विकेट लिए. वहीं वनडे में 175 वनडे खेले और 182 विकेट लिए. 1992 में वर्ल्ड कप जीतने के बाद इमरान ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया. जिसके बाद इमरान ने अपनी पार्टी बनाई और राजनीति में आ गए. सरकार के विरोध में उन्होंने जमकर प्रदर्शन किया. लोगों ने इमरान खान पर भरोसा जताया और इस बार चुनाव में उनकी पार्टी को वोट दिया.