NDTV Khabar

पाकिस्तान में शख्स ने मांगा मजदूरी का पैसा तो इमाम के मैनेजर ने पीछे छोड़ दिया पालतू शेर, फिर हुआ ऐसा

पाकिस्तान के प्रांत पंजाब की राजधानी लाहौर में एक धर्मस्थल की देखरेख करने वाले व्यक्ति ने एक इलेक्ट्रीशियन पर महज इसलिए पालतू शेर छोड़ दिया क्योंकि उसने अपने काम का मेहनताना मांगा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान में शख्स ने मांगा मजदूरी का पैसा तो इमाम के मैनेजर ने पीछे छोड़ दिया पालतू शेर, फिर हुआ ऐसा

पाकिस्तान : धर्मस्थल प्रंबधक ने मेहनताना मांगने पर इलेक्ट्रीशियन पर शेर छोड़ा

पाकिस्तान के प्रांत पंजाब की राजधानी लाहौर में एक धर्मस्थल की देखरेख करने वाले व्यक्ति ने एक इलेक्ट्रीशियन पर महज इसलिए पालतू शेर छोड़ दिया क्योंकि उसने अपने काम का मेहनताना मांगा था. शेर के हमले में उसे कई चोटें आई हैं। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इलेक्ट्रीशियन पर पालतू शेर छोड़ने की यह हरकत एक इमाम बारगाह के प्रबंधक ने की. उसके खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया गया है। यह घटना बीती नौ सितंबर की है जिसमें इलेक्ट्रीशियन घायल हुआ था.

ये भी पढ़ें: सफारी कर रहे लोगों को देख शेर को आया गुस्सा, शिकार के लिए पीछे लगा दी दौड़, देखें VIDEO

पुलिस ने बताया कि इमाम बारगाह सदाए हुसैन के प्रबंधक अली रजा के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दो दिन पहले शिकायत मिलने के बाद दर्ज किया गया. 


ये भी पढ़ें: शेर के बच्चे ने किया मां पर ऐसा Attack, छिपकर आया पीछे से और... देखें VIDEO

इलेक्ट्रीशियन रफीक अहमद ने घटना के फौरन बाद कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई थी. उसने कहा कि वह अली रजा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पर इसलिए मजबूर हुआ क्योंकि रजा ने वादे के मुताबिक उसे इलाज के लिए पैसा नहीं दिया और न ही काम का मेहनताना दिया. वह बीते एक महीने से इसके लिए लगातार रजा से तकादा कर रहा था.

टिप्पणियां

ये भी पढ़ें: शेर के बाड़े में कूद गई महिला, चिढ़ाया तो हुआ ऐसा... वायरल हुआ ये VIDEO

इस मामले में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार इलेक्ट्रीशियन रफीक से अली रजा ने इमाम बारगाह में कुछ काम कराया और मेहनताना कुछ दिन में देने की बात कही. इसके बाद रजा ने रफीक के बार-बार कहने पर भी पैसा नहीं दिया और एक दिन जब रफीक पैसा मांगने पहुंचा तो रजा ने उस पर अपना पालतू शेर छोड़ दिया जिसके हमले में उसके चेहरे और हाथ पर जख्म आए. शेर के हमले पर जब रफीक चिल्लाया तो आसपास के लोगों ने हस्तक्षेप किया जिससे उसकी जान बच सकी.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement