NDTV Khabar

पाकिस्तान में 25 साल से पत्तियां खाकर जी रहा है एक व्यक्ति, कभी बीमार नहीं पड़ा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान में 25 साल से पत्तियां खाकर जी रहा है एक व्यक्ति, कभी बीमार नहीं पड़ा

पाकिस्तान के गुजरांवाला जिले का एक शख्स 25 साल से पत्तियां खाकर जी रहा है

खास बातें

  1. गुजरांवाला के मोहम्मद बट्ट ने 25 साल की उम्र में पत्तियां खानी शुरू की
  2. गरीबी के कारण नहीं मिलता था भोजन, स्थिति सुधरी तब भी डाल-पात ही खाते रहे
  3. करीब 600 रुपये कमाने वाला बट्ट कभी डॉक्टर के पास या अस्पताल नहीं गया है
लाहौर:

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक व्यक्ति पिछले 25 साल से पत्तियां खाकर जी रहा है और कभी भी बीमार नहीं पड़ा. पंजाब प्रांत के गुजरांवाला जिले के रहने वाले 50 साल के मोहम्मद बट्ट ने रोजगार न होने और खानपान का खर्च वहन न कर पाने के कारण 25 साल की उम्र में पत्तियां खानी शुरू कर दी थीं.

बट्ट ने कहा, 'मेरे परिवार में बहुत गरीबी थी. चीजें हमारी पहुंच से बाहर थीं और मेरे लिए भोजन हासिल करना बेहद मुश्किल था, इसलिए मैंने सोचा कि सड़कों पर भीख मांगने से अच्छा है कि डाल-पात खाकर ही जी लूं.' 'द न्यूज इंटरनेशनल' अखबार की खबर के अनुसार बट्ट ने कहा, 'डाल और पत्तियां खाना अब मेरी आदत बन गई है.' कई साल बाद उसे काम मिल गया और वह अब दो जून की रोटी जुटा सकता था लेकिन उसने अपना विशिष्ट आहार बनाए रखने को ही तवज्जो दी.

टिप्पणियां

अपनी गधा गाड़ी पर सामान पहुंचाकर 600 रुपये रोजाना कमाने वाला बट्ट कभी बीमार नहीं पड़ा और अब भी पत्तियां एवं डालें खाकर मजे में जी रहा है. बट्ट के पड़ोसी गुलाम मोहम्मद ने कहा, 'वह कभी किसी डॉक्टर के पास या अस्पताल नहीं गया. हम हैरान हैं कि इतने सालों से डाल पात खा रहा इंसान कैसे कभी बीमार नहीं पड़ा.' मोहम्मद ने कहा, 'वह सड़क किनारे कभी भी अपनी गधा गाड़ी रोक देता है और पेड़ की हरी डालें तोड़ने लगता है.' खाने की अपनी इस विशिष्ट आदत के कारण बट्ट इलाके में काफी लोकप्रिय है.


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement