NDTV Khabar

इस खिलाड़ी को देखकर हैरान रह गए थे PM नरेंद्र मोदी, 11 महीने पहले कोमा में था, अब जीता ओलिंपिक मेडल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे खिलाड़ी की कहानी सुनाई जिसे देखकर उनको भी हैरानी हुई. उन्होंने विंटर ओलिंपिक में भाग ले रहे कनाडा के एक खिलाड़ी के बारे में बताया. जिसने कोमा से निकलकर ब्रॉन्ज मेडल जीता.

323 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस खिलाड़ी को देखकर हैरान रह गए थे PM नरेंद्र मोदी, 11 महीने पहले कोमा में था, अब जीता ओलिंपिक मेडल

पीएम मोदी ने 'परीक्षा पर चर्चा' के दौरान कनाडा के खिलाड़ी मार्क मैकमॉरिस को याद किया.

खास बातें

  1. पीएम मोदी ने बच्चों को सुनाई खिलाड़ी मार्क मैकमॉरिस की कहानी.
  2. कोमा से निकलकर विंटर ओलंपिक में जीता है ब्रॉन्ज मेडल.
  3. 11 महीने पहले एक हादसे में मार्क मैकमॉरिस की 17 हड्डियां टूट गई थीं.
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'परीक्षा पर चर्चा' के दौरान बच्‍चों से बड़े दोस्‍ताना अंदाज में बात शुरू की. देश के 10 करोड़ स्टूडेंट्स से रू-ब-रू होने का मौका मिला है. उन्‍होंने कहा कि मुझे सबसे बड़ी शिक्षा मिली कि भीतर के विद्यार्थी को कभी मरने मत देना. उन्होंने एक ऐसे खिलाड़ी की कहानी सुनाई जिसे देखकर उनको भी हैरानी हुई. उन्होंने विंटर ओलिंपिक में भाग ले रहे कनाडा के एक खिलाड़ी के बारे में बताया. जिसने कोमा से निकलकर ब्रॉन्ज मेडल जीता.  इस खिलाड़ी का नाम है मार्क मैकमॉरिस, जो कनाडा के स्नोबोर्ड स्लोपस्टाइल खिलाड़ी हैं. आउए जानते हैं उनकी सक्सेस स्टोरी...

पीएम मोदी का छात्रों को गुरु मंत्र Live- कोशिश करने से आत्मविश्वास बढ़ता है​

टिप्पणियां
कोमा से निकलकर जीता ब्रॉन्ज मेडल
11 महीने पहले एक हादसे में मार्क मैकमॉरिस की 17 हड्डियां टूट गई थीं. जिसके बाद वो कोमा में चले गए थे. मार्क की पसलियां, जबड़ा, बाएं फेफड़े समेत कई हिस्से फ्रैक्चर हुए थे. स्नोबोर्डिंग करते वक्त वो पेड़ से टकरा गए थे. 11 महीने बाद उन्होंने विंटर ओलिंपिक में हिस्सा लिया और शानदार परफॉर्म करेत हुए स्लोप स्टाइल इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर सभी को हैरान कर दिया. 

विंटर ओलिंपिक के दौरान तेज हवाओं ने मचाई तबाही, 16 लोग घायल
 
ट्विटर पर दो फोटो डालकर कहा- 'शुक्रिया जिंदगी'
मेडल जीतने के बाद मार्क ने सोशल मीडिया पर दो फोटो डालीं. एक फोटो में वो अस्पताल में कोमा में थे तो वहीं दूसरी तस्वीर में वो पोडियम पर मेडल के साथ खड़े थे. साथ ही उन्होंने लिखा- ''शुक्रिया जिंदगी.'' मार्क का ये दूसरा मेडल है. पहला मेडल उन्होंने 2014 सोची ओलिंपिक में मेडल जीता था. किसी को उम्मीद नहीं थी कि वो मेडल जीत पाएंगे. लेकिन ऐसा करके उन्होंने सभी को हैरान कर दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement