नदी के भीतर किया गया वर्ल्ड वॉर 2 के सबसे खतरनाक बम का धमाका, बन गया अनूठा फव्वारा - देखें VIDEO

एक ऑपरेशन के दौरान एक बड़ा विश्व युद्ध II बम (World War II Bomb) से विस्फोट हुआ, लेकिन किसी को नुकसान नहीं पहुंचा. डिवाइस का निकनेम टॉलबॉय (Tallboy Bomb) है, जिसे "भूकंप बम" (Earthquake Bomb) के रूप में भी जाना जाता है.

नदी के भीतर किया गया वर्ल्ड वॉर 2 के सबसे खतरनाक बम का धमाका, बन गया अनूठा फव्वारा - देखें VIDEO

नदी के भीतर किया गया वर्ल्ड वॉर 2 के सबसे खतरनाक बम का धमाका, देखें Video

पोलिश अधिकारियों ने कहा कि बाल्टिक सागर (Baltic Sea) के पास एक चैनल में पांच टन के उपकरण (Earthquake Bomb) को खराब करने के लिए मंगलवार को एक ऑपरेशन के दौरान एक बड़ा विश्व युद्ध II बम (World War II Bomb) से विस्फोट हुआ, लेकिन किसी को नुकसान नहीं पहुंचा. डिवाइस का निकनेम टॉलबॉय (Tallboy Bomb) है, जिसे "भूकंप बम" (Earthquake Bomb) के रूप में भी जाना जाता है. 1945 में नाजी युद्धपोत पर हुए हमले में रॉयल एयर फोर्स द्वारा इसे गिरा दिया गया था. 

पिछले साल इसकी खोज 12 मीटर (39 फीट) की गहराई पर की गई थी. उत्तर-पश्चिमी पोलैंड के बंदरगाह शहर स्वाइनजस्की के करीब से ढूंढा गया था. यह बम छह मीटर से अधिक लंबा और 2.4 टन विस्फोटक से भरा हुआ था - लगभग 3.6 टन टीएनटी के बराबर.

नौसेना ने पहले कहा था कि उसने लगभग 500 मीटर दूर स्थित एक पुल को नष्ट होने के डर से एक नियंत्रित विस्फोट के पारंपरिक विकल्प को खारिज कर दिया था. विस्फोट करने के बजाय, इसको डिफ्लेग्रेशन की तकनीक का इस्तेमाल करके नष्ट करने की प्लानिंग थी. रिमोट कंट्रोल डिवाइस के जरिए इसको नष्ट करना था.

स्वीनजस्की में पोलिश नौसेना की 8 वीं तटीय रक्षा फ़्लोटिला के प्रवक्ता ग्रेज़गोरज़ लेवांडोव्स्की ने कहा, 'डिफ्लेग्रेशन की तकनीक एक विस्फोट में बदल गई.' उन्होंने कहा, "इसमें सीधे तौर पर शामिल लोगों के लिए कोई जोखिम नहीं था." उन्होंने कहा कि बम को "बेअसर" माना जा सकता है.

देखें Video:

स्विंउज्स्की सिटी हॉल के प्रवक्ता ने एएफपी को बताया कि उन्होंने सैन्य गोताखोरों द्वारा ऑपरेशन के दौरान किसी के घायल होने की कोई रिपोर्ट नहीं सुनी है, न ही शहर के बुनियादी ढांचे को कोई नुकसान हुआ है. विस्फोट से पहले गांव को खाली करा दिया गया था. 

इस सप्ताह ऑपरेशन शुरू होने से पहले, लेवांडोव्स्की ने इसे "एक बहुत ही नाजुक काम" कहा था, जिसमें कहा गया था कि "सबसे तीखा कंपन बम विस्फोट कर सकता है.

लगभग 750 स्थानीय निवासियों से पहले ही बम के चारों ओर 2.5 किलोमीटर (1.6 मील) के क्षेत्र से बाहर निकालने का आग्रह किया गया था, हालांकि कुछ ने एएफपी को बताया था कि वे ठहरे रहेंगे. 

Newsbeep

विस्फोट की जगह से कुछ ही दूरी पर एक गेम हॉल में लोगों को ठहराया गया था. सबसे बड़ा खतरा उनके लिए था. ऑपरेशन के दौरान लोग वहां मौजूद थे. हलीना पासज़कोव्स्का ने कहा, 'मैं यहां 50 साल से रह रही हूं और अन्य बम भी हैं, लेकिन यह पहली बार है जब वहां निकासी हुई है. इससे पहले, हमें सिर्फ घर के अंदर रहने को कहा जाता था.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नेविगेशन चैनल और आसपास के जलमार्गों पर समुद्री यातायात को बम निरोधक अभियान के आसपास 16 किलोमीटर के क्षेत्र में निलंबित कर दिया गया था. टालबॉय को एक लक्ष्य के बगल में भूमिगत विस्फोट करने के लिए डिज़ाइन किया गया था, जो सदमे की लहरों को ट्रिगर करता है जो विनाश का कारण होगा.