NDTV Khabar

Pulwama Attack: बीजेपी नेता का ऑफर, कहा- अजहर मसूद का सिर लाओ 51 लाख रुपये पाओ

भाजपा नेता विनीत अग्रवाल शारदा (Vineet Agarwal Sharda) ने पाकिस्तान के आतंकवादी अजहर मसूद (Masood Azhar) का सिर कलम करके भारत में लाने वाले को 51 लाख रुपये (51 Lakh Rupees) का इनाम देने की घोषणा की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Pulwama Attack: बीजेपी नेता का ऑफर, कहा- अजहर मसूद का सिर लाओ 51 लाख रुपये पाओ

जहर मसूद का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा.

खास बातें

  1. भाजपा नेता ने किया ऐलान.
  2. अजहर मसूद का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपये का इनाम.
  3. भाजपा नेता विनीत अग्रवाल शारदा ने किया ऐलान.

भाजपा नेता (BJP Leader) एवं प्रदेश भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के संयोजक विनीत अग्रवाल शारदा (Vineet Agarwal Sharda) ने पाकिस्तान के आतंकवादी अजहर मसूद (Masood Azhar) का सिर कलम करके भारत में लाने वाले को 51 लाख रुपये (51 Lakh Rupees) का इनाम देने की घोषणा की है. भाजपा नेता के अनुसार इसमें 11 लाख रुपया उनकी खुद की तरफ से और 40 लाख रुपया जनता से एकत्रित करके दिया जाएगा. 

...जब आर्मी अफसर के थप्पड़ से औंधे मुंह गिर पड़ा था जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मौलाना मसूद अजहर

विवादास्पद बयानों के लिए जाने जाने वाले भाजपा नेता विनीत शारदा ने कहा कि हाल के आंतकी हमले में जिस तरह भारतीय जवान शहीद हुए हैं उसे लेकर पूरा देश शोक मना रहा है और साथ ही गुस्से में भी है. उन्होंने कहा कि देश को प्रधानमंत्री पर भरोसा है कि वह पाकिस्तान द्वारा पोषित आंतकवाद की इस शर्मनाक घटना का मुहंतोड़ जवाब देंगे. भाजपा नेता के अनुसार भाजपा प्रकोष्ठ द्वारा व्यापारियों से धन एकत्र कर उससे शहीद सैनिकों के परिवारों को आर्थिक मदद दी जाएगी.


फिर दिखा चीन का 'पाक' प्रेम, पुलवामा हमले के शहीदों पर शोक तो प्रकट किया, मगर नाम तक नहीं लिया

masood azhar

पुलवामा हमले की साजिश रचने वाला मौलाना मसूद अजहर भले आज भारत की पकड़ से बाहर हो लेकिन एक समय था जब वह भारत की कैद में था और पूछताछ के दौरान आर्मी अफसर के एक थप्पड़ से वह औंधे मुंह गर पड़ा था. अजहर पुर्तगाल के पासपोर्ट पर बांग्लादेश के रास्ते भारत में घुसा था और फिर वह कश्मीर पहुंचा. उसे दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में फरवरी 1994 में गिरफ्तार किया गया था.

टिप्पणियां

संसद से लेकर पुलवामा तक : जैश-ए-मोहम्मद की स्थापना करने वाला मौलाना मसूद अजहर का पूरा इतिहास

अधिकारी ने बताया कि हिरासत में खुफिया एजेंसियों को अजहर से पूछताछ करने में ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी. उसने सेना के एक अधिकारी के एक थप्पड़ के बाद ही बोलना शुरू कर दिया और पाकिस्तान से संचालित आतंकवादी समूहों के कामकाज के बारे में उसने विस्तार से जानकारी दी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement