NDTV Khabar

मुर्गे की बांग से परेशान होकर थाने पहुंच गई पड़ोसन, लगाया चौंकाने वाला आरोप

महाराष्ट्र के पुणे जिले में मुर्गे की बांग एक महिला को इस कदर नागवार गुजरी कि वह मुर्गे और उसके मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पहुंच गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुर्गे की बांग से परेशान होकर थाने पहुंच गई पड़ोसन, लगाया चौंकाने वाला आरोप

खास बातें

  1. मुर्गे की बांग पुणे की एक महिला को गुजरी नागवार
  2. महिला के घर के सामने मुर्गा रोज सुबह बांग देता है
  3. महिला ने मुर्गे के खिलाफ थाने में की शिकायत
पुणे:

महाराष्ट्र के पुणे जिले में मुर्गे की बांग एक महिला को इस कदर नागवार गुजरी कि वह मुर्गे और उसके मालिक के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पहुंच गई. एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि यहां सोमवार पेठ इलाके में रहने वाली महिला ने शुक्रवार को समर्थ थाने में शिकायत देकर कहा है कि उसके घर के सामने वाले घर में रोजा सुबह मुर्गा बांग देता है, जिससे उनकी नींद में खलल पड़ता है. अधिकारी ने बताया, 'हमें महिला की शिकायत मिली है. जब हमने जांच की तो पता चला कि वह उस घर में नहीं रहती है. यह घर उसकी बहन का है. वह अपनी बहन के घर कुछ दिनों के लिए आई थी और शिकायत देने के बाद वहां से चली गई.' उन्होंने बताया कि इस बाबत अबतक कोई आधिकारिक शिकायत दर्ज नहीं की गई है.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश से कड़कनाथ मुर्गा पहुंचा उत्तर प्रदेश के बहराइच, कई बीमारियां ठीक करने में है सहायक


इससे पहले मध्य प्रदेश के शिवपुरी में एक अनोखा मामला देखने को मिला था. यहां एक मुर्गे के खिलाफ एक महिला शिकायत दर्ज कराने पुलिस थाने पहुंच गई थी. पुलिस ने भी मुर्गे और उसके मालिकों को तलब कर लिया था. मुर्गे को थाने में लेकर पहुंची मालकिन ने हाथ जोड़कर पुलिस से अपील की थी कि उसके मुर्गे के साथ कुछ ना किया जाए, बेशक उन्हें जेल में डाल दिया जाए. पूनम नाम की महिला पुलिस थाने में शिकायत लेकर पहुंची थी कि उसकी बेटी को एक मुर्गे ने चोंच मार दी.

टिप्पणियां

ये भी पढ़ें: इस शख्स के पीछे पड़ गया मुर्गा, ऐसे छुड़ाया पीछा, वायरल हुआ VIDEO

मुर्गे को पूनम के पड़ोस में रहने वाला एक परिवार पाल रहा था. शिवपुरी शहर में मोतीबाबा मंदिर के पास रहने वालीं पूनम कुशवाह की शिकायत थी की मुर्गे ने उसकी बेटी पर हमला कर दिया और उसे चोंच मार दी. इसके बाद पुलिस ने मुर्गे के साथ उसके मालिक को थाने बुलवाया. थाने में सजा की बात सुनकर मुर्गे की मालकिन लक्ष्मी जोर-जोर से रोने लगी थी. वह पुलिस से गुहार लगाने लगी थी कि उसके मुर्गे के साथ कुछ न किया जाए, बेशक उसे जेल में डाल दिया जाए. लक्ष्मी ने बताया कि जब यह छोटा-सा था, तब वह पांच रुपए में खरीद कर लाई थी और तभी से उसे पाल रही है. लक्ष्मी के पति पप्पू जाटव ने कहा था कि उनकी कोई औलाद नहीं है. उनकी पत्नी ने मुर्गे को बच्चे की तरह पाला है. (इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement