NDTV Khabar

Rajiv Gandhi की शादी कराने के पीछे था अमिताभ बच्चन का हाथ, हरिवंश राय बच्चन ने किया था सोनिया गांधी का कन्यादान

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की आज 74वीं जयंती है. राजीव गांधी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल पर सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने श्रद्धांजलि दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Rajiv Gandhi की शादी कराने के पीछे था अमिताभ बच्चन का हाथ, हरिवंश राय बच्चन ने किया था सोनिया गांधी का कन्यादान

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की आज 74वीं जयंती है.

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की आज 74वीं जयंती है. राजीव गांधी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल पर सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने श्रद्धांजलि दी. उनके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रियंका गांधी वाड्रा, राबर्ट वाड्रा समेत कांग्रेस के अन्‍य नेताओं ने भी श्रद्धांजलि दी. वह देश के छठवें प्रधानमंत्री थे. 20 अगस्‍त, 1944 को जन्‍मे राजीव गांधी की 1991 में तमिलनाडु में हत्‍या कर दी गई थी. उनकी जयंती पर हम आपसे राजीव गांधी और उनके दोस्त अमिताभ बच्चन के जीवन से जुड़ी एक ऐसी कहानी साझा कर रहे हैं, जो शायद आपको नई लगे. यूं तो अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) और राजीव गांधी बचपन से ही दोस्त थे, दोनों एक-दूसरे से जब कभी मिलते तो मौज-मस्ती के साथ सुख-दुख की सारी बातें शेयर करते. बताया जाता है कि राजीव गांधी जब महज चार साल के थे तभी अमिताभ बच्चन से उनकी मुलाकात हुई थी. राजीव ने पहली बार अमिताभ को अपनी मां इंदिरा गांधी के गोद में देखा था. मां इंदिरा ने दोनों बच्चों की दोस्ती कराई जो आगे चलकर मिसाल बनी.

राजीव गांधी हत्‍याकांड: सुप्रीम कोर्ट ने दोषी पेरारीवलन की दया याचिका को कोर्ट रिकॉर्ड में रखा
 
rajiv gandhi sonia gandhi

timesofindia की खबर के मुताबिक, तीन साल के लंबे लव अफेयर के बाद राजीव गांधी ने सोनिया गांधी से शादी करने का फैसला लिया था. मां इंदिरा गांधी भी इस रिश्ते के लिए तैयार हो गई थीं. शादी के लिए 1968 में सोनिया गांधी पहली बार भारत आईं. हालांकि उनके साथ परिवार के दूसरे लोग इटली से नहीं आए थे. ऐसे में इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के सामने सबसे बड़ी समस्या यह थी कि आखिर शादी को कैसे संपन्न कराया जाए, क्योंकि भारतीय रीति-रिवाज में शादी के दौरान दुल्हन को उसके पिता दान करने की रस्म को निभाते हैं.

राजीव गांधी जयंती: राहुल गांधी ने कहा, उनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा

टिप्पणियां
इस बात को लेकर राजीव गांधी काफी परेशान थे, तभी वे इस समस्या को लेकर अपने सबसे अच्छे दोस्त अमिताभ बच्चन के घर पहुंचे. अमिताभ ने दोस्त राजीव की समस्या अपनी मां तेजी बच्चन और पिता हरिवंस राय बच्चन के सामने बयां की. साथ ही अमिताभ ने सुझाव दिया कि क्यों न सोनिया गांधी की शादी इसी घर में कराई जाए? अमिताभ का यह सुझाव सभी का पसंद आया.

सामने आया राजीव गांधी और सोनिया की शादी का दुर्लभ ब्लैक एंड व्हाइट वीडियो
 
sonia rajiv gandhi

सोनिया गांधी जब दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर 13 जनवरी 1968 को आईं तो अमिताभ बच्चन भी राजीव गांधी के साथ उन्हें रिसीव करने पहुंचे थे. भारतीय परंपरा के तहत सोनिया गांधी शादी के बिना राजीव के घर जा नहीं सकती थीं, इसलिए वह अमिताभ के घर पर ही ठहरीं. सोनिया 45 दिनों तक अमिताभ बच्चन के घर पर रहीं. बाद में अमिताभ बच्चन के घर में ही राजीव गांधी बारात लेकर पहुंचे. हरिवंश राय बच्चन ने सोनिया गांधी का कन्यादान किया. इस तरह सोनिया गांधी और राजीव गांधी की शादी अमिताभ बच्चन के घर पर संपन्न हुई. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement