NDTV Khabar

कुलभूषण की फांसी पर अभिजीत बोले, 'भारत में पाकिस्तानी दिखे तो उनको पेड़ से लटका दो'

3929 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कुलभूषण की फांसी पर अभिजीत बोले, 'भारत में पाकिस्तानी दिखे तो उनको पेड़ से लटका दो'

अभिजीत इससे पहले भी कई बार पाकिस्तानी कलाकारों को लेकर विवादित बयान देते रहे हैं.

खास बातें

  1. पाकिस्‍तान में कैद कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा पर भड़के अभिजीत
  2. गायक अभिजीत ने पाकिस्तानियों को फांसी पर लटकाने की बात कही
  3. अभिजीत ने बॉलीवुड के खान और भट्ट परिवार पर भी कसा तंज
नई दिल्ली: पाकिस्तानी कलाकारों का आए दिन विरोध करने वाले पार्श्व गायक अभिजीत भट्टाचार्य ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है. पाकिस्‍तान में कैद कुलभूषण जाधव को वहां की कोर्ट में फांसी की सजा सुनाए जाने पर अभिजीत ने नाराजगी जाहिर की है. अभिजीत ने ट्वीट किया है, 'भारत में पाकिस्तानी दिखे तो उनको पेड़ से लटका दो...#कुलभूषण_की_फांसी_रोको'. अभिजीत यहीं नहीं रुके, उन्होंने ट्वीट के अगले हिस्से में लिखा है, 'आपको ऐसे ज्यादातर लोग बॉलिवुड में ही या फिर भट्ट और जौहर के घर में मिल जाएंगे।' अभिजीत के इस ट्वीट के बाद कुछ ट्विटर यूजर उनका समर्थन कर रहे हैं तो कई लोग विरोध भी कर रहे हैं. अपने अगले ट्वीट में अभिजीत ने लिखा है, 'सारे खान चुप क्यों हो??'
  मालूम हो कि पाकिस्तान की कोर्ट ने कुलभूषण सुधीर जाधव को रॉ का एजेंट बताकर फांसी की सजा सुनाई है। उन पर पाकिस्तान के खिलाफ विध्वंसक गतिविधियां चलाने और जासूसी करने का आरोप था.

अभिजीत इससे पहले भी कई बार पाकिस्तानी कलाकारों को लेकर विवादित बयान देते रहे हैं. किसी समय में शाहरुख खान की फिल्मों की अधिकतर गाने गाने वाले अभिजीत उनपर भी निशाना साधने से नहीं चुकते हैं. सलमान खान को हिट एंड रन केस में सजा सुनाए जाने का भी अभिजीत ने विरोध किया था. उन्होंने फुटपाथ पर सोने वाले लोगों की तुलना कुत्ते-बिल्ली से की थी. इससे पहले वे अदनान सामी को भारत की नागरिकता दिए जाने का भी विरोध कर चुके हैं.

इन मौकों पर अभिजीत ने पाकिस्तानियों का किया विरोध

2003: अभिजीत ने गायक अनूप जलोटा, जगजीत सिंह, कुमार शानू और जसविंदर नरूला के साथ मिलकर भारत सरकार को एक चिट्ठी भी लिखी थी. लिखा था, 'हम क्यों इन लोगों को अपने यहां गाने का मौका दे रहे हैं, जबकि इनके यहां हमारा स्वागत नहीं किया जाता? पाकिस्तानी गायकों को भारत में बैन किया जाना चाहिए.'

2004: अभिजीत ने कहा, 'हम उनके (पाकिस्तान) के साथ क्रिकेट नहीं खेलते, क्योंकि वे हमारे लोगों को मार रहे हैं. फिर हम उन्हें गाना क्यों गाने दे रहे हैं?'

2009: रिएलिटी शो में 'एक से बढ़कर एक' के एक एपिसोड में जब एक प्रतिभागी ने पाकिस्तानी गायक आतिफ असलम का गाना गाया तो अभिजीत भड़क गए. अभिजीत ने कहा, 'ये क्या गाना है? ये बेसुरी गायकी है जिसे स्टूडियो में सॉफ्टवेयर की मदद से ठीक किया जाता है. मुझे दुख है कि हमारे यहां ऐसे गानों को गाया जा रहा है.' अभिजीत ने हिमेश रेशमिया पर निशाना साधते हुए कहा, पाकिस्तानी सुरों के मामले में जीरों हैं. हमारे यहां लोग पैसा कमाने के लिए उनके गायकों को प्रमोट कर रहे हैं."

उन्होंने हिमेश रेशमिया पर तंज कसते हुए कहा, 'पैसों के लिए पाकिस्तानी गायकों के घर में रोटी की फिक्र की जा रही है लेकिन अपने गायक भूखे मर रहे हैं, उन्हें कौन प्रमोट करेगा?'

इसके अलावा भी कई बार अभिजीत पाकिस्तानी कलाकारों और वहां की सरकार पर हमले बोलते रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement