छह एस्ट्रोनॉट बने अंतरिक्ष में उगाए गए खाने को चखने वाले पहले इंसान

छह एस्ट्रोनॉट बने अंतरिक्ष में उगाए गए खाने को चखने वाले पहले इंसान

अंतरिक्ष में सलाद खाते एस्ट्रोनॉट (यूट्यूब वीडियो से ली गई तस्वीर)

नई दिल्ली:

अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) में मौजूद अंतरिक्ष यात्रियों ने वहां प्रयोगशाला में उगाया गया पत्तेदार सलाद पहली बार खाया। सोमवार को नासा के अंतरिक्ष यात्री स्कॉट केली सहित 'एक्सपेडीशन 44' के चालक दल के सदस्यों ने अपनी मेहनत से उपजाए गए लाल पत्तेदार सलाद को काटा। अंतरिक्ष यात्री पत्तेदार सलाद को खाने से पहले रसायन से धोया।

सोमवार को इसे आधा ही खाया गया और आधा सुरक्षित रूप से रख दिया गया ताकि इसे वैज्ञानिक विश्लेषण के लिए पृथ्वी पर भेजा जा सके। नासा का पौधा प्रयोग वेज 01 का उपयोग अंतरिक्ष में पौधों की वृद्धि के अध्ययन के लिए किया जा रहा है।

पत्ता खाने के बाद नासा के एस्ट्रोनॉट केजेल लिंडग्रेन ने कहा, ये मजेदार था। ये बात उन्होंने ये पत्ता खाने के बाद कही।

सलाद खाने के बाद एस्ट्रोनॉट स्कॉट केली ने कहा, स्वाद बढ़िया है। ये अरुगुला के जैसा है। केली अपने रिसर्च का करीब एक साल अंतरिक्ष में पूरा कर रहे हैं।  

नासा अंतरिक्ष में सब्ज़ी प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहा है ताकि भविष्य की पीढ़ी को लगातार खाद्य पूरक मिल सके जो मंगल के लिए नासा की यात्रा का एक अहम हिस्सा है।

ये सलाद, सौर मंडल में नासा के लंबी अवधि के खोज मिशन में चालक दल के सदस्यों के उपभोग के लिए एक अहम वस्तु होगा। इसका इस्तेमाल अंतरिक्ष यात्री मिशन के दौरान बागवानी भी कर सकेंगे।
देखें यह खास वीडियो

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com