Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

अमेरिका में E-Cigarette पीने वालों की संख्या हुई दोगुनी, स्कूल स्टूडेंट्स सबसे आगे

शोधकर्ताओं का कहना है कि पिछले दो वर्षों में अमेरिका में ई-सिगेरट के जरिए निकोटीन की चपेट में आने वाले बच्चों की संख्या दोगुनी हो गई है. इसी के साथ पिछले दो वर्षों में इसमें दोगुनी रफ्तार से बढ़ोतरी देखी गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिका में E-Cigarette पीने वालों की संख्या हुई दोगुनी, स्कूल स्टूडेंट्स सबसे आगे

अमेरिका में 2 साल के अंदर ई-सिगरेट पीने वाले बच्चों की संख्या दोगुनी हुई

शोधकर्ताओं का कहना है कि पिछले दो वर्षों में अमेरिका में ई-सिगेरट के जरिए निकोटीन की चपेट में आने वाले बच्चों की संख्या दोगुनी हो गई है. न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, सर्वेक्षण से संबंधित 2019 के डेटा में आठवीं, 10वीं व 12वीं कक्षा के बच्चे शामिल किए गए. केवल एक साल पहले की तुलना में ही ई-सिगरेट के उपयोग में काफी वृद्धि दर्ज की गई. इसी के साथ पिछले दो वर्षों में इसमें दोगुनी रफ्तार से बढ़ोतरी देखी गई.

ये भी पढ़ें: Amazon पर बिक रहा है 1.39 लाख का हेडफोन, शख्स ने रिव्यू मे लिखा- 'मौसी की दोनों किडनी बेच डालीं!'

अमेरिका के मिशिगन विश्वविद्यालय से जुड़े इस अध्ययन के प्रमुख शोधकर्ता रिचर्ड मीच ने कहा, "स्कूल में जाने वाले बच्चों के माता-पिता को इन उपकरणों पर ध्यान देना शुरू करना चाहिए, जो साधारण फ्लैश ड्राइव की तरह दिखते हैं. यह उन फ्लेवर्स के साथ आते हैं, जो युवाओं को पसंद आ रहे हैं." मीच ने कहा, "किशोरों इन उत्पादों का उपयोग न कर सकें, इसके लिए राष्ट्रीय नेता नीतियों व कार्यक्रमों को लागू करके माता-पिता की सहायता कर सकते हैं."


ये भी पढ़ें: एमएस धोनी के घर कटी बिजली, पत्नी साक्षी ने परेशान होकर किया ट्वीट, लिखा- 'पिछले 5 घंटे से...'

अध्ययन के अनुसार, 2019 में 12वीं कक्षा के चार छात्रों में से एक छात्र ने ई-सिगरेट का प्रयोग किया. इसके अलावा 10वीं कक्षा के पांच में से एक और आठवीं कक्षा के 11 में से एक छात्र ने ई-सिगेरट का इस्तेमाल किया.

टिप्पणियां

ये भी पढ़ें: नदी में दिखाई दिया 65 फुट का रहस्यमयी 'राक्षस', बाहर निकाला तो... देखें VIDEO

अमेरिका में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन ड्रग एब्यूज से जुड़े नोरा डी. वोल्कोव ने किशोरों में बढ़ते ई-सिगरेट के चलन पर चिंता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि अब यह एक सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट का रूप ले चुकी है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार पर बोला हमला तो सुशील मोदी ने दे डाली नसीहत, पूछे इन सवालों के जवाब...

Advertisement