NDTV Khabar

कट्टरपंथियों की आंख में आंख डालती मुस्कुराती हुई मुसलमान लड़की की यह तस्वीर...

3587 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कट्टरपंथियों की आंख में आंख डालती मुस्कुराती हुई मुसलमान लड़की की यह तस्वीर...

साफिया खान की यह तस्वीर वायरल हो रही है

खास बातें

  1. बर्मिंघम की साफिया खान की तस्वीर वायरल हो रही है
  2. तस्वीर में वह कट्टरपंथी समूह का बहादुरी से सामना करती दिख रही हैं
  3. साफिया खान कई सालों से बर्मिंघम में रह रही है
बर्मिंघम: बात ब्रिटेन के बर्मिंघम शहर की है जहां कट्टरपंथी समूह इंग्लिश डिफेंस लीग (EDL) के सामने एक ब्रितानी मुस्लिम युवती बड़ी ही दिलेरी के साथ मुस्कुराते हुए खड़ी है और यह तस्वीर अब वायरल हो रही है. आगे बढ़ने से पहले बता दें कि हाल ही में हुए वेस्टमिनिस्टर हमले के बाद EDL 'इस्लामिक आतंकवाद' के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने सड़क पर उतरा. तभी कुछ ऐसा हुआ कि ब्रितानी मुस्लिम साफिया खान की एक तस्वीर ली गई जो अब वायरल हो गई है.

दरअसल प्रदर्शनकारियों ने विरोध के दौरान एक हिजाब पहनी महिला को घेर लिया और इस्लाम विरोधी नारे लगाने लगे. साफिया ने इस नज़ारे को दूर से देखा और वह मौके पर पहुंचकर उस महिला के बचाव में खड़ी हो गई. इसके बाद EDL के सदस्य साफिया पर चिल्लाने लगे लेकिन साफिया बहुत ही शांत तरीके से, मुस्कुराते हुए, जेब में हाथ डाले उनके आंख में आंख डालकर देखने लगी और इसी पल को प्रेस एसोसिएशन के फोटोग्राफर ने अपने कैमरे में कैद कर लिया.

साफिया ने बीबीसी से बातचीत में जानकारी दी कि वह उस मौके पर किसी दल या समूह की तरफ से मौजूद नहीं थीं. उनका वहां होना एक संयोग था लेकिन जब उन्होंने ईडीएल के प्रदर्शनकारियों को उस महिला को घेरे हुए देखा तो वह खुद को रोक नहीं पाईं. साफिया ने बताया कि महिला का बचाव करने के बाद विरोध करने वालों ने उन्हें घेर लिया लेकिन वह बिल्कुल नहीं डरीं. बल्कि जब साफिया पर ज़ोर ज़ोर से चिल्लाया जाने लगा, तब वह जेब में हाथ डाले मुस्कुराते हुए उनका सामना कर रही थीं.

साफिया की इस तस्वीर को ट्विटर पर कई लोगों द्वारा साझा किया गया. खेल कमेंटेटर पियर्स मोर्गन ने इस तस्वीर को हफ्ते की सबसे अच्छी तस्वीर बताया.
       
वैसे तो साफिया मूल रूप से ब्रोसनन और पाकिस्तान से ताल्लुक रखती हैं लेकिन वह पिछले कई सालों से बर्मिंघम में रह रही हैं. उनका कहना है कि उन्हें यह पसंद नहीं कि उनके शहर में किसी भी धर्म या रंग का व्यक्ति असुरक्षित महसूस करे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement