NDTV Khabar

अगर आपके घर में है ब्रॉडबैंड इंटरनेट तो हो सकती है ये परेशानी, नहीं हो पाते इस चीज में संतुष्ट

इंटरनेट की तेज गति के लिए ब्रॉडबैंड, वाई-फाई जैसे जरियों का सहारा लेने वालों के लिए बुरी खबर है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अगर आपके घर में है ब्रॉडबैंड इंटरनेट तो हो सकती है ये परेशानी, नहीं हो पाते इस चीज में संतुष्ट

अगर आपके घर में है ब्रॉडबैंड इंटरनेट तो हो सकती है ये परेशानी.

इंटरनेट की तेज गति के लिए ब्रॉडबैंड, वाई-फाई जैसे जरियों का सहारा लेने वालों के लिए बुरी खबर है. एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि तेज गति के इंटरनेट का इस्तेमाल, आप कैसी और कितनी नींद लेते हैं, इसे प्रभावित कर सकता है. इस शोध में देखा गया कि जो लोग डिजिटल सब्सक्राइबर लाइन (डीएसएल) का प्रयोग करते हैं वह डीएसएल इंटरनेट नहीं इस्तेमाल करने वालों की तुलना में 25 मिनट कम नींद ले पाते हैं.

टिप्पणियां

धान के खेतों में बैलों के साथ इन लड़कों ने की ऐसी हरकत, बार-बार देखा जा रहा है Video
 
डीएसएल एक ऐसी तकनीक है जो साधारण तांबे की टेलीफोन तारों की बजाए ज्यादा बैंडविथ के इंटरनेट को घरों और छोटे कारोबारों तक पहुंचाता है. इटली के बोकोनी यूनिवर्सिटी और अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग के शोधकर्ताओं ने बताया कि तेज गति के इंटरनेट के प्रयोग से उन लोगों में नींद की अवधि और नींद पूरी होने की संतुष्टि घटती है जो सुबह में काम या पारिवारिक कारणों के लिए समय नहीं निकाल पाते.


अजय देवगन के बेटे ने कैमरे को देखकर की ऐसी हरकत, काजोल हुईं हैरान... Video वायरल
 
बोकोनी यूनिवर्सिटी के प्राध्यापक फ्रांसेस्को बिल्लारी ने कहा, “डीएसएल इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले लोग बिना डीएसएल के इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों के मुकाबले 25 मिनट कम सोते हैं.” बिल्लारी ने कहा, “ऐसे लोग सात से नौ घंटे की नींद नहीं ले पाते और वह अपनी नींद से संतुष्ट भी नहीं हो पाते.” वैज्ञानिक समुदाय सात से नौ घंटे की नींद लेने को जरूरी बताता है। यह शोध ‘जर्नल ऑफ इकोनॉमिक बिहेवियर एंड ऑर्गनाइजेशन’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement