NDTV Khabar

ज्यादा बाहर समय बिताने से नहीं होतीं ये बीमारियां, आती है ज्यादा नींद

प्रकृति के नजदीक रहने और बाहर समय बिताने से टाइप - टू डायबिटीज, हृदय संबंधित बीमारियां, अकाल मौत और समय से पूर्व जन्म और लोगों में तनाव पैदा होने का खतरा कम होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ज्यादा बाहर समय बिताने से नहीं होतीं ये बीमारियां, आती है ज्यादा नींद
प्रकृति के नजदीक रहने और बाहर समय बिताने से टाइप - टू डायबिटीज, हृदय संबंधित बीमारियां, अकाल मौत और समय से पूर्व जन्म और लोगों में तनाव पैदा होने का खतरा कम होता है. इस अध्ययन में 20 देशों के 29 करोड़ लोगों के आंकड़ों को शामिल किया गया है. अध्ययन के अनुसार जहां लोग प्रकृति के ज्यादा नजदीक होते हैं, उनकी सेहत अच्छी होती है.

स्कूल में नहीं थी बस तो बच्चों ने छोड़ दिया आना, टीचर खुद बना ड्राइवर और किया ये कारनामा
 
ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंगलिया काओम्हे तोहिग- बेनेट ने बताया, ‘प्रकृति के नजदीक समय बिताने से निश्चित रूप से हम लोग स्वस्थ महसूस करते हैं लेकिन अभी तक लंबे समय तक स्वस्थ रहने के प्रभाव को अच्छे से समझा नहीं गया था. ” इस अनुसंधान में टीम ने प्रकृति के नजदीक रहने वाले लोगों की तुलना ऐसे लोगों से की जो हरे - भरे जगहों में कम ही रहते हैं.

टिप्पणियां
थाईलैंड में गुफा में फंसे बच्चों को निकालने के लिए युद्धस्तर पर बचाव कार्य, पढ़ें घटना की पूरी टाइमलाइन
 
तोहिग-बेनेट ने बताया- 'हमने पाया कि हरे-भरे जगहों या इसके नजदीक रहना स्वास्थ्य लाभ से जुड़ा हुआ है.  इससे टाइप-टू डायबिटीज, हृदय संबंधित बीमारियां , अकाल मौत और समय से पूर्व जन्म सहित अन्य खतरे कम होते हैं और इससे नींद की अवधि बढ़ती है. ” 

(इनपुट-भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement