NDTV Khabar

पौधे चरने पर पुलिस ने किया दो बकरों को 'गिरफ्तार', खंभे से बांधकर मालिक को कहा- 'जाओ पहले...'

तेलंगाना में पौधे चरने का अपराध करने के जुर्म में तेलंगाना में बकरे को थाने की हवा खानी पड़ी. थाना परिसर में खंभे से बांधकर दोनों बकरे को तब तक रखा गया जब तक उसके मालिक ने जुर्माना नहीं भरा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पौधे चरने पर पुलिस ने किया दो बकरों को 'गिरफ्तार', खंभे से बांधकर मालिक को कहा- 'जाओ पहले...'

पौधे चरने के जुर्म में बकरों को थाने की हवा खानी पड़ी.

तेलंगाना में पौधे चरने का अपराध करने के जुर्म में तेलंगाना में दो बकरों को थाने की हवा खानी पड़ी. यह घटना करीमनगर जिले के हुजूराबाद शहर की है जहां मंगलवार को पौधे चरने पर एक एनजीओ के कार्यकर्ताओं ने दो बकरे को पकड़ कर थाना पहुंचाया और उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया. पौधे एनजीओ द्वारा ही लगाए गए थे.

ये भी पढ़ें: Black Friday: जानिए क्या है Friday the 13th, इस दिन को लेकर खौफ में आ जाते हैं लोग

थाना परिसर में खंभे से बांधकर दोनों बकरे को तब तक रखा गया जब तक उसके मालिक ने जुर्माना नहीं भरा. पुलिस इंस्पेक्टर वासमशेट्टी माधवी ने आईएएनएस को बताया कि बकरे के मालिक ने बुधवार को नगर निगम प्राधिकरण को 1,000 रुपये का जुर्माना चुकाया जिसके बाद दोनों बकरे को रिहा किया गया.

ये भी पढ़ें: 89 साल का बनकर विदेश यात्रा कर रहा था शख्स, पुलिस को लगा 'जवान' तो पकड़ा, हुआ ये खुलासा


एनजीओ सेव द ट्रीज के कार्यकर्ताओं की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की थी. कार्यकर्ताओं ने सरकारी अस्पताल परिसर में करीब 150 पौधे चरने की शिकायत की थी. हालांकि पुलिस स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उन्होंने बकरे को गिरफ्तार नहीं किया था क्योंकि भारतीय दंड संहिता में पशुओं को गिरफ्तार करने या सजा देने का कोई प्रावधान नहीं है.

टिप्पणियां

ये भी पढ़ें: ऑफिस ट्रिप के दौरान शख्स ने किया सेक्स, हुई मौत, कोर्ट ने कहा- 'वर्कप्लेस एक्सिडेंट'

अधिकारी ने बताया, "बकरे के मालिक द्वारा जुर्माना भरने पर हमने बकरे को उनके हवाले कर दिया और उन्हें सार्वजनिक स्थानों पर लगे पौधे बकरे से नहीं चराने की चेतावनी भी दी."



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement